वाराणसी : कम समय में पैसा दोगुना करने का झांसा देने वाले ऑसम इंफ्रा प्रोजेक्ट लिमिटेड का सीएमडी राजकुमार गुजरात से गिरफ्तार

Varanasi: Rajkumar, the CMD of Osam Infra Project Limited, who pretended to double the money in a short time, was arrested from Gujarat.

राजकुमार वर्मा ने वाराणसी के सिगरा थाना अंतर्गत छित्तूपुर में ऑसम इंफ्रा प्रोजेक्ट लिमिटेड के नाम से

एक फर्म खोल रखी थी। इस फर्म का सीएमडी राजकुमार का बड़ा भाई कृष्ण कुमार वर्मा था। वहीं,

राजकुमार और उसका एक अन्य भाई राजेश कुमार वर्मा और उसके पिता शिवलाल प्रजापति इस फर्म के कर्ताधर्ता थे। इस फर्म से 13 अन्य लोग भी जुड़कर काम करते थे।

Newspoint24/संवाददाता  

वाराणसी। कम समय में पैसा दोगुना करने का झांसा देकर वाराणसी सहित पूर्वांचल के अन्य जिलों के लोगों से करोड़ों रुपए ठगने के आरोपी 10 हजार के इनामी राजकुमार वर्मा को कैंट थाने की पुलिस ने गुजरात से गिरफ्तार किया है। राजकुमार मूल रूप से वाराणसी के लोहता थाना के भिटारी गांव का रहने वाला है। मौजूदा समय में वह गुजरात के बलसाड़ जिले के पाड़ी थाना के शुभम ग्रीन सिटी बगवाड़ा में रह रहा था। कैंट थाने की पुलिस धोखाधड़ी के 3 मुकदमों में राजकुमार की तलाश 6 महीने से कर रही थी। राजकुमार को आज अदालत में पेश कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा जाएगा।

भाइयों और पिता के साथ करता था धोखाधड़ी

राजकुमार वर्मा ने वाराणसी के सिगरा थाना अंतर्गत छित्तूपुर में ऑसम इंफ्रा प्रोजेक्ट लिमिटेड के नाम से एक फर्म खोल रखी थी। इस फर्म का सीएमडी राजकुमार का बड़ा भाई कृष्ण कुमार वर्मा था। वहीं, राजकुमार और उसका एक अन्य भाई राजेश कुमार वर्मा और उसके पिता शिवलाल प्रजापति इस फर्म के कर्ताधर्ता थे। इस फर्म से 13 अन्य लोग भी जुड़कर काम करते थे।

पुलिस की पूछताछ में राजकुमार ने बताया कि वह, उसके पिता और भाई के साथ ही एजेंट्स पैसे वाले भोलेभाले लोगों को झांसा देते थे यदि उनकी फर्म के माध्यम से निवेश करेंगे तो कम समय में उनका पैसा दोगुना हो जाएगा। इसके साथ ही वह कम दाम में प्लॉट और मकान देने का झांसा देकर भी लोगों से रुपए निवेश कराता था।

राजकुमार ने बताया कि वाराणसी में ही अन्य जगह और प्रदेश के अन्य जिलों में भी ऑसम इंफ्रा प्रोजेक्ट और कैसिटा इत्यादि नाम से फर्म खोलकर उसके गिरोह ने कई लोगों से करोड़ों रुपए ठगे। भुक्तभोगी जब उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने लगे तो वह सभी भूमिगत हो गए और फिर वाराणसी छोड़ दिए।

अन्य आरोपी भी जल्द होंगे गिरफ्त में

डीसीपी वरुणा जोन आदित्य लांग्हे ने बताया कि आरोपी राजकुमार को दरोगा सुरेंद्र यादव और कांस्टेबल मनीष बघेल की टीम ने गिरफ्तार किया है। धोखाधड़ी में शामिल अन्य आरोपी भी जल्द ही गिरफ्तार किए जाएंगे। भोलेभाले लोगों से ठगी करने वाले इस गिरोह के सभी सदस्यों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की 3 टीम गठित की गई है। इस गैंग में शामिल सभी आरोपियों के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट की भी कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें : 

वाराणसी में कोविड-19 अब दोगुनी रफ्तार से फैल रहा मंगलवार को 45 नए मामले,अब कुल 130 एक्टिव मामले

Share this story