काशी विश्वनाथ में जलाभिषेक और दुग्धाभिषेक के लिए शिव भक्तों का तांता लगा , चहुओर हर-हर महादेव का जयकारा 

In Kashi Vishwanath, there was an influx of Shiva devotees for Jalabhishek and Dugdhabhishek, chanting of Chahuor Har Har Mahadev

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

वाराणसी। काशी विश्वनाथ में भोर में मंगला आरती के बाद बाबा विश्वनाथ के मंदिर के गर्भगृह का पट खुला तो पूरा धाम क्षेत्र हर-हर महादेव के उद्घोष से गूंज उठा। बाबा विश्वनाथ के दर्शन-पूजन के लिए रविवार की रात 12 बजे से ही लोग लाइन में लग गए। सुबह रिमझिम बारिश हुई। बारिश में श्रद्धालुओं की लाइन लगी रही। बाबा विश्वनाथ के शिवलिंग को स्पर्श कर जल चढ़ाने की व्यवस्था नहीं है। झांकी दर्शन कर बाहर से ही जलाभिषेक किया गया ।

#Photo बम बम हुई भोले की काशी: दोपहर भोग आरती तक 1.5 लाख से ज्यादा भक्तों ने किया जलाभिषेक, शाम को होगा विशेष श्रृंगार...

देवाधिदेव महादेव के प्रिय श्रावण मास के दूसरे सोमवार को बाबा के जलाभिषेक और दुग्धाभिषेक के लिए शिव भक्तों का तांता लगा हुआ है। द्वादश ज्योर्तिलिंगों में प्रमुख बाबा विश्वनाथ की नगरी में चहुओर हर-हर महादेव का जयकारा लग रहा है।

हाथों में गंगा जल और मन में भोलेनाथ के प्रति अटूट विश्वास लिए बाबा की मंगला आरती में ढाई सौ से ज्यादा भक्त शामिल हुए। 

मंगला आरती के बाद में भोर में 3.50 बजे श्रद्धालुओं के दर्शन पूजन के लिए कपाट खोला दिया गया

मंगला आरती के बाद में भोर में 3.50 बजे श्रद्धालुओं के दर्शन पूजन के लिए कपाट खोला दिया गया। सभी ने कतारबद्ध होकर काशी पुराधिपति को गंगा जल और दूध के साथ बेलपत्र, मदार, धतूरा चढ़ाया और सुख-समृद्धि की कामना की। वहीं इस पावन पर्व के अवसर पर बाबा दरबार की भव्य सजावट की गई है। पूरे परिसर में भक्तों के लिए रेड कार्पेट बिछे है।

बता दें कि सावन के चारो सोमवार को परंपरानुसार संध्या श्रृंगार आरती में होने वाले बाबा विश्वनाथ के विशेष श्रृंगार के क्रम में दूसरे सोमवार को भगवान का शिव-पार्वती रूप का श्रृंगार हुआ और भक्तों को बाबा का दर्शन मिलेगा।

इसी क्रम में सारनाथ स्थित सारंगनाथ मंदिर, दारानगर स्थित महामृत्युंज मंदिर, कैथी स्थित मार्केंडेय महादेव, रेवड़ी तालाब स्थित तिलभांडेश्वर मंदिर, केदारघाट स्थित गौरी केदारेश्वर, बीएचयू स्थित विश्वनाथ मंदिर समेत शहर के सभी शिवालयों में भक्तों ने बाबा का जलाभिषेक व दुग्धाभिषेक किया गया ।

बाबा को चढ़ाया गया चांदी का पलंग

गौरतलब वहीं श्री काशी विश्वनाथ धाम में रविवार की शाम एक भव्य आयोजन हुआ जिसमें नाट कोट क्षेत्रम की ओर से बाबा विश्वनाथ के लिए एक रजत का पलंग दान किया गया। उस पलंग को रात्रि कालीन होने वाले श्रृंगार भोग आरती में गर्भगृह में लगाया गया। मुख्य कार्यपालक अधिकारी सुनील कुमार वर्मा ने बताया कि श्रीनाथ कोट छेत्रम संस्था द्वारा मंदिर के पूजा पाठ सहित कई अन्य कार्यों में काफी सहयोग किया जाता है। उसी संस्था द्वारा चांदी का पलंग दान किया गया है।

यह भी पढ़ें : 
वाराणसी : सावन के सोमवार पर माहौल बिगाड़ने के लिए पलहीपट्‌टी बाजार स्थित मंदिर का शिवलिंग अराजक लोगों ने क्षतिग्रस्त किया

Share this story