हरदोई: दो साल बाद निकाला जाएगा मोहर्रम का जुलूस, पुलिस ने किया पुख्ता इंतजाम

हरदोई: दो साल बाद निकाला जाएगा मोहर्रम का जुलूस, पुलिस ने किया पुख्ता इंतजाम

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

हरदोई। कोरोना के बाद इस बार दो साल बाद मोहर्रम का जुलूस निकाला जाएगा। इसके लिए पुलिस ने पुख्ता बंदोबस्त किए है। मोहर्रम के जुलूस की खुफिया निगाहों से निगरानी की जाएगी।

पुलिस के अलावा इंतजामिया कमेटी भी मोहर्रम की तैयारियों को अमली जामा पहनाने में लगी हुई है। बताते चलें कि इस बार मुहर्रम के जुलूस निकाले जाएंगे। जिसे लेकर शिया समुदाय के लोगों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। 31 जुलाई से मुहर्रम शुरू रहा है।

इस दौरान मजलिस भी होगी। जिसे लेकर पुलिस महकमा भी अपनी तैयारियों में जुट गया हैं। शिया धर्म गुरुओं का मानना है कि अगर शुक्रवार की रात चांद दिखा तो 30 जुलाई से भी मोहर्रम की शुरुआत हो सकती है।

नहीं तो 31 जुलाई से ही मोहर्रम की शुरुआत होगी। पिहानी में सातवीं, आठवीं,नवमीं और दसवीं मोहर्रम का खास जुलूस निकाला जाता है। इन तारीखों के ताज़िया जुलूस सुबह से ले कर शाम तक गश्त करते हैं। सातवीं मोहर्रम का जुलूस 24 घंटे गश्त करता रहता है।

ताज़ियादारी की तैयारियों को अमलीजामा पहनाया जा रहा है। इसी सिलसिले में पिहानी एसएचओ बेनी माधव त्रिपाठी ने अपने मातहतों को पुख्ता बंदोबस्त करने के दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इसके अलावा खुद भी पल-पल की तैयारियों को परख रहें हैं। उन्होंने साफ-सफाई के अलावा सड़कों के गड्ढे भरने के लिए ईओ अहिबरन लाल से बातचीत की है।

एसएचओ श्री त्रिपाठी ने पुलिस के जवानों के साथ जुलूस निकाले जाने वाले रास्तों और जहां-जहां मजलिसे होगी, वहां का जायज़ा लिया और किए जा रहे इंतज़ामों को देखा। इसके अलावा मीरसराय,छिपटोला,खुरमुली और नागर मोहल्ले के कई इलाकों में पैदल घूम-घूम कर वहां का हाल परखा।

या हुसैन,या हुसैन की गूंजेगी सदाएं

मोहर्रम में घरों में मजलिसे शुरू हो जाएगी। सोग़वार दिनों में घरों के अलावा इमामबाड़ों में मजलिसे होती है। जिनमें शहिदाने कर्बला की याद में मातम किया जाता है। उलेमा कर्बला के जंग की मंज़रकशी करते हुए बताएंगे कि किस तरह हज़रत इमाम हुसैन और उनके 72 साथियों को शहीद किया गया था।

गड़बड़ी करने वालों पर रहेंगी नजर

कमोबेश हर भीड़-भाड़ वाले ठिकानों पर गड़बड़ी करने वालों की जमात रहती है। एसएचओ श्री त्रिपाठी ने बताया है कि जुलूस के दौरान किसी भी तरह की गड़बड़ी की गई,तो गड़बड़ी करने वाले पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस तरह के लोग पुलिस के रडार पर रहेंगे। पुलिस के जवान सादी वर्दी में मुस्तैद किए जाएंगे।

यह भी पढ़ें :  मुरादाबाद : मुस्लिम महिला को सीएम योगी का समर्थन करना पड़ा भारी, पति ने दिया तलाक

Share this story