बांदा : अपने पिता से परेशान दो सगी बहनों ने जहर खाया, एक की इलाज के दौरान मौत , दूसरी अस्पताल में , आरोपी आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में  गिरफ्तार

Banda: Troubled by their father, two real sisters consumed poison, one died during treatment, the other in hospital, accused arrested for abetment to suicide

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

 
बांदा। यूपी के बांदा जिले में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। अपने पिता से परेशान होकर दो सगी बहनों ने जहर खा लिया है। यह घटना बबेरू थाना अंतर्गत पंडरी गांव की है। बड़ी लड़की प्रियंका की इलाज के दौरान मौत हो गई है। बांदा के राजकीय एलोपैथिक मेडिकल कॉलेज में दूसरी लड़की को इलाज के लिए भर्ती करवाया गया है। जहां वह अपनी जिंदगी और मौत से लड़ रही है। मेडिकल कॉलेज में भर्ती पीड़िता ने बताया कि उसके पिता आए दिन दोनों बहनों के साथ मारपीट करते थे। 

पिता से परेशान होकर बहनों ने खाया जहर
पीड़िता के अनुसार, मंगलवार रात उसके पिता ने उन दोनों को कुल्हाड़ी से काटकर जान से मार देने की बात कह रहा था। जिससे परेशान होकर उन्होंने अपनी जान देने का फैसला कर लिया। आरोपित पिता और उसके दो भाई चार महीने पहले ही प्रयागराज की नैनी जेल से जमानत पर बाहर आया है। इस बार आरोपी पिता की नजर अपनी दोनों बेटियों की हत्या करने पर थी। इस बात की जानकारी दोनों बेटियों को हो गई थी कि उसके पिता उनकी जान लेने वाले हैं। बता दें कि मलखान सिंह की चार बेटियां हैं। जिनमें 22 वर्षीय प्रियंका और 20 वर्षीय सपना ने आत्महत्या का प्रयास किया है।

बड़ी बहन की हुई मौत
पीड़िता सपना ने अपने पिता पर आरोप लगाते हुए कहा कि उनके हाथों से मरने से बेहतर है कि जहर की गोली खाकर जान दे दी जाए। इसीलिए उन्होंने घर में रखी सल्फास खा ली। उसकी बड़ी बहन प्रियंका की मौत हो गई है। राजकीय एलोपैथिक मेडिकल कॉलेज में भर्ती पीड़िता ने एसपी बांदा से मदद की गुहार लगाई है। पीड़िता का कहना है कि उसके पिता और चाचा उन्हें प्रताड़ित करते हैं। इसलिए उन दोनों को जेल भेजकर उसे और उसकी मृतक बहन को इंसाफ दिलाया जाए। मृतका की मां रेखा की शिकायत के आधार पर मलखान सिंह के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्जकर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

यह भी पढ़ें : इलाहाबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी के ताराचंद हॉस्टल के कमरे में एक छात्र ने आत्महत्या की

Share this story