13 साल के लड़के पर पिटबुल ने किया हमला, चबा गया कान, साथ मौजूद पिता ने किसी तरह बचाई जान

13 साल के लड़के पर पिटबुल ने किया हमला, चबा गया कान, साथ मौजूद पिता ने किसी तरह बचाई जान

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

चंडीगढ़। पंजाब के गुरदासपुर जिले में पिटबुल नस्ल के एक पालतू कुत्ते ने 13 साल के बच्चे पर जानलेवा हमला कर दिया। कुत्ता बच्चे की जान लेने पर उतारू था।

पास मौजूद पिता ने किसी तरह अपने बच्चे की जान बचाई। इस दौरान कुत्ता बच्चे की कान चबा गया। 

घटना शुक्रवार को कोटली भान सिंह गांव में घटी। पीड़ित परिवार के अनुसार पिता अपने बच्चे को लेकर बाइक से घर लौट रहे थे।

कुत्ता सड़क किनारे अपने मालिक के साथ खड़ा था। बाइक सवार पिता-पुत्र को देखते ही वह भौंकने लगा। इसी दौरान मालिक के हाथ से कुत्ते का पट्टा छूट गया। 

पट्टा छूटते ही कुत्ता बच्चे पर झपटा और उसे काटने लगा। उसने बच्चे के सिर पर हमला कर दिया। बच्चे के पिता ने किसी तरह उसे दूर हटाया। इसी दौरान मालिक ने कुत्ते पर काबू पाया और उसे घर ले गया।

घायल बच्चे को इलाज के लिए बटाला के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। डॉक्टर के अनुसार बच्चे की हालत स्थिर है। उसका इलाज चल रहा है।

पिटबुल ने की थी 82 साल की महिला की हत्या

बता दें कि पिछले दिनों पिटबुल नस्ल का कुत्ता 82 साल की महिला की हत्या करने के चलते चर्चा में आया था। घटना 13 जुलाई को लखनऊ में घटी थी।

बंगाल टोला इलाके में रहने वाली महिला को उनके पालतू कुत्ते ने नोच-नोचकर मार डाला था। पिटबुल बुजुर्ग महिला सुशीला पर पहले भी कई बार हमला कर चुका था।

वह अक्सर फेरी वालों या सफाई कर्मियों पर भी हमलावर रहता था, लेकिन किसी ने इसकी शिकायत पुलिस से नहीं की। 

खतरनाक होता है पिटबुल 

पिटबुल नस्ल के कुत्ते बहुत ही खतरनाक, गुस्सैल और आक्रामक होते हैं। उसके खून में भी आक्रामकता होती है। हिंसात्मक होकर वे किसी को पकड़ लेते हैं तो छोड़ते नहीं हैं।

कई देशों में इसे पालने पर प्रतिबंध है। पशु चिकित्सक टी एस यादव के अनुसार पिटबुल हंटिंग डॉग है।

पिटबुल को देखकर मालिक को काम करना चाहिए। अगर यह डॉग गुस्से में है तो मालिक को उन्हें अवॉइड करना चाहिए। 

दिखावे के चक्कर में लोग पाल लेते हैं ऐसे डॉग

पशु प्रेमी पी.के. पात्रा बताते हैं कि लोग आजकल दिखावे के चक्कर में इस तरह के आक्रामक डॉग पाल लेते हैं।

शुरुआत में तो ये हंडिंग डॉग बहुत शांत रहते हैं, लेकिन कुछ समय बाद आक्रामक होने लगते हैं। इसके बाद ये सिर्फ और सिर्फ ट्रेनर की सुनते हैं।

गुस्सा आने पर ये जिस घर में रह रहे हैं, उनके सदस्यों पर भी हमलावर हो जाते हैं। इस तरह के डॉग को नहीं पालना चाहिए।

यह भी पढ़ें :  वाइस चांसलर को पंजाब के हेल्थ मिनिस्टर ने गंदे बिस्तर में लिटाया, अस्पताल पहुंचे मंत्री ने जमकर लगाई क्लास

Share this story