Monsoon Update: कई राज्यों में फिर भारी बारिश का अलर्ट, जानिए IMD ने किन राज्यों को लेकर क्या भविष्यवाणी की है

Monsoon Update: कई राज्यों में फिर भारी बारिश का अलर्ट, जानिए IMD ने किन राज्यों को लेकर क्या भविष्यवाणी की है

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

 नई दिल्ली। दक्षिण पश्चिमी मानसून(south west monsoon) की एक्टिविटी बढ़ने से कई राज्यों में फिर भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग पहले ही कह चुका है कि भारत में अगस्त-सितंबर में सामान्य मानसूनी बारिश होगी।

खासकर पूर्वी उत्तर प्रदेश और झारखंड के उन क्षेत्रों में जहां पिछले 119 वर्षों में सबसे कम बारिश हुई है। भारत मौसम विज्ञान विभाग(IMD) ने आजकल में केरल में मध्यम से भारी बारिश की संभावना जताई है।

यहां कुछ स्थानों पर बहुत भारी बारिश तक हो सकती है।  आंतरिक तमिलनाडु, कर्नाटक, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, लक्षद्वीप, मराठवाड़ा के कुछ हिस्सों और उत्तरी बिहार, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, मेघालय, असम, अरुणाचल प्रदेश,विदर्भ, तेलंगाना और दक्षिण मध्य प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश का अलर्ट है। 

(यह तस्वीर कोच्चि की है, जहां मानसून की बारिश के बाद अलुवा शिव मंदिर परिसर में पानी भर गया। वहां से घोड़े पर सवार एक व्यक्ति गुजरता हुआ)

इन राज्यों में मध्यम बारिश के आसार

पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, शेष उत्तर पूर्व भारत, बिहार के शेष हिस्सों, झारखंड, ओडिशा, छत्तीसगढ़, पूर्वी राजस्थान, रायलसीमा, कोंकण और गोवा और मध्य महाराष्ट्र में हल्की से मध्यम बारिश के आसार हैं। जबकि दिल्ली, गुजरात, गंगीय पश्चिम बंगाल, जम्मू कश्मीर और लद्दाख में पश्चिमी राजस्थान में एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश संभव है।

मौसम में बदलाव की मुख्य वजहें

स्काईमेट वेदर(skymet weather) के अनुसार, मानसून की ट्रफ समुद्र तल पर अमृतसर, चंडीगढ़, बरेली, बहराइच, पटना, बांकुरा, दीघा और फिर पूर्व दक्षिण पूर्व बंगाल की खाड़ी से होकर गुजर रही है।

एक उत्तर-दक्षिण ट्रफ रेखा दक्षिण छत्तीसगढ़ से तेलंगाना, रायलसीमा और तमिलनाडु होते हुए कोमोरिन क्षेत्र तक बनी हुई है। चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र दक्षिण पश्चिम राजस्थान और पाकिस्तान के आसपास के इलाकों पर बना हुआ है।

तमिलनाडु के तटीय क्षेत्रों और आसपास के क्षेत्रों पर एक चक्रवाती परिसंचरण(cyclonic circulation)  है। एक विंड शेयर जून दक्षिण प्रायद्वीपीय भारत के ऊपर लगभग 10 डिग्री अक्षांश(latitude) के साथ चल रहा है। अगले 2 से 3 दिनों के दौरान यह उत्तर दिशा में आगे बढ़ सकता है।

बीते दिन इन राज्यों में हुई बारिश

पिछले दिन उत्तर पूर्व भारत के बाकी हिस्सों, तटीय आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, उत्तरी आंतरिक कर्नाटक, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, उत्तराखंड, कोंकण और गोवा के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश होती रही।

जम्मू कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश, पंजाब के कुछ हिस्सों, दक्षिण और पूर्वी राजस्थान, गुजरात, उत्तर आंतरिक कर्नाटक, गंगीय पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड में हल्की बारिश हुई और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश दर्ज की गई।

इसके अलावा केरल, तटीय कर्नाटक, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, तमिलनाडु में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश दर्ज की गई।

लक्षद्वीप, ओडिशा के उत्तरी तट, रायलसीमा, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, असम के सिक्किम, पूर्वी उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़ और हरियाणा में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भी भारी बारिश हुई। 

निरापुथरी उत्सव पर असर

केरल में भारी बारिश और जिले में तीन अगस्त को ऑरेंज अलर्ट घोषित होने के मद्देनजर निरापुथरी उत्सव के लिए सबरीमाला पहुंचने वाले तीर्थयात्रियों को इस बार पंपा नदी में स्नान करने की अनुमति नहीं होगी।

राज्य सरकार की एक प्रेस रिलीज में कहा गया है कि पथानामथिट्टा के जिला कलेक्टर डॉ. दिव्या एस अय्यर ने यह निर्देश जारी किया है, जिन्होंने मौजूदा प्रतिकूल मौसम की स्थिति के दौरान तीर्थयात्रियों को पहाड़ी की चोटी पर यात्रा करते समय बेहद सावधानी बरतने की सलाह दी है। 

अमरनाथ तीर्थयात्रियों से 5 अगस्त से पहले गुफा दर्शन करने को कहा गया

जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने अमरनाथ तीर्थयात्रियों से पांच अगस्त से पहले पवित्र गुफा के दर्शन करने की अपील की है। वार्षिक अमरनाथ यात्रा आधिकारिक रूप से 11 अगस्त को समाप्त होगी।

देश भर से तीन लाख से अधिक भक्तों ने बाबा के दर्शन किए हैं। सिन्हा ने कहा, "कई इलाकों में भारी बारिश हुई है। मैं देश भर के उन भक्तों से अनुरोध करना चाहता हूं, जिनके दर्शन अभी बाकी हैं, वे 5 अगस्त से पहले आएं क्योंकि उसके बाद और बारिश की भविष्यवाणी की गई है।"

नीलगिरी में स्कूलों में छुट्टी

तमिलनाडु के नीलगिरी जिले में भारी बारिश के आसार के चलते एनडीआरएफ की 40 सदस्यीय टीम किसी भी स्थिति से निपटने और बचाव अभियान चलाने के लिए पहुंची।

मौसम विभाग की ओर से और बारिश की आशंका को देखते हुए जिला प्रशासन ने तीन अगस्त को शैक्षणिक संस्थानों में अवकाश घोषित कर दिया है। एनडीआरएफ की टीम को अरकोनम, कुन्नूर, गुडालूर और कोठागिरी में तैनात किया गया है। भूस्खलन की आशंका वाले 243 क्षेत्रों पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है।

दिल्ली में हल्की बारिश की संभावना

दिल्ली में मंगलवार को पारा कुछ डिग्री बढ़कर 35.7 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। मौसम कार्यालय ने कहा कि आजकल में आमतौर पर बादल छाए रहेंगे और हल्की बारिश या बूंदाबांदी होने की संभावना है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार, बुधवार को न्यूनतम और अधिकतम तापमान क्रमशः 26 डिग्री सेल्सियस और 35 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है।

यह भी पढ़ें : पश्चिम बंगाल में ED के साथ अब CBI की धांसू एंट्री, गौ तस्करी में बदनाम इस TMC लीडर के 'करीबी' के यहां छापे

Share this story