MP के खंडवा में सामूहिक सुसाइडः रात 2 बजे 3 बहनों ने एक फंदे पर साथ लगाई फांसी, कॉलेज में जॉब करती थीं 2 बहनें

MP के खंडवा में सामूहिक सुसाइडः रात 2 बजे 3 बहनों ने एक फंदे पर साथ लगाई फांसी, कॉलेज में जॉब करती थीं 2 बहनें

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

खंडवा। मध्य प्रदेश के खंडवा जिले से दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है। जहां एक ही परिवार की 3 बहनों ने एक ही रस्सी पर फांसी आत्महत्या कर ली। इस घटना के बाद से गांव में सनसनी फेल गई है।

वहीं मामले की खबर मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और तीनों के शव बरामद कर जांच-पड़ताल शुरू कर दी है। पुलिस सुसाइड करने की असली वजह का पता लगाने में जुट गई है।

 तीन सगी बहनों क्यों उठाया खौफनाक कदम?

दरअसल, यह चौंका देने वाली घटना खंडवा जिले के जावर थाने क्षेत्र के भामवढ़ गांव की है। यहां रहने वाले एक आदिवासी परिवारी की तीन बेटियां सोनू, सावित्री और ललिता ने मंगलवार रात करीब 2 से 3 तीन बजे के बीच  फांसी लगाकर जान दे दी।

परिजनों का रो-रोकर बुरा  हाल है, वह इसके पीछे कोई वजह नहीं बता पा रहे हैं। आखिर किस कारण ने उनकी बेटियों ने ये खौफनाक कदम उठाया।

8 भाई बहन हैं, इसमें से दो बहनों की शादी नहीं हुई थी

वहीं मामले की जांच कर रहे  एसपी विवेक सिंह ने बताया कि अभी तक सुसाइड की वजह का पता नहीं चला है। ना ही मौके से कोई सुसाइड नोट बरामद हुआ है। फिलहाल शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है।

उन्होंने बताया कि प्रारंभिक जानकारी के मुताबिक मृतक लड़कियों के पिता जामसिंह का भी पहले निधन हो चुका है। परिवार में आठ भाई बहन हैं, इसमें से दो बहनों की शादी नहीं हुई थी, तीन कुंवारी हैं और 3 भाई अभी हैं, जिनसे पूछताछ जारी है।

दो मृतक बहनें कॉलेज में करती थीं नौकरी

बता दें कि मृतका सोनू और सावित्री खंडवा में एसएन कॉलेज में नौकरी करती थीं। बड़ी बहन सावित्री कुछ ही दिन पहले मायके आई हुई थी।

ऐसे में पुलिस की शुरूआती जांच यह कह रही है कि पारिवारिक और आपसी संबंधों के चलते खुदकुशी की गई होगी। हालांकि जांच और पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के असली कारणों का खुलासा हो सकेगा।

यह भी पढ़ें : कौन है भोला यादव जिसे कहते लालू का राइट हैंड, सीबीआई ने किया गिरफ्तार...जिसने किया है बड़ा कांड

Share this story