पश्चिम बंगाल में डीजे के जेनरेटर ये गाड़ी में करंट फैलने से 10 कावड़ियों की दर्दनाक मौत, छटपटाकर गिरते रहे

पश्चिम बंगाल में डीजे के जेनरेटर ये गाड़ी में करंट फैलने से 10 कावड़ियों की दर्दनाक मौत, छटपटाकर गिरते रहे

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के कूचबिहार में कूचबिहार एक पिकअप व्हीकल में बिजली का करंट फैलने 10 लोगों की मौत हो गई। हादसे में 10 लोग करंट झुलस गए। हादसा रविवार देर रात हुआ। व्हीकल में 27 कांवड़ियें सवार थे।

हादसे की वजह डीजे सिस्टम के जेनरेटर की वायरिंग में शॉर्ट सर्किट होना माना जा रहा है। व्हीकल जलपेश के लिए जा रहा था। झुलसे लोगों को जलपाईगुड़ी के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। प्रारंभिक जांच से पता चलता है कि जनरेटर (डीजे सिस्टम) की वायरिंग के कारण हुआ, जो व्हीकल के पिछले हिस्से में लगाया गया था। डीजे बजने के कारण शुरुआत में लोगों को समझ ही नहीं आया कि ये हो क्या रहा है।

ड्राइवर गाड़ी छोड़कर भागा
हादसे में 16 लोग झुलस गए। माथाभंगा के एसपी ने कहा कि सूचना मिलने ही पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को जलपाईगुड़ी के अस्पताल भेजा गया। हादसे के बाद ड्राइवर भाग गया। हादसा मेखलीगंज थाना क्षेत्र के धरला ब्रिज पर हुआ। 

माताभंगा के एडिशनल एसपी अमित वर्मा के मुताबिक रविवार रात करीब 12 बजे पिकअप जलपेश जा रहा था, तभी हादसा हुआ। घायलों को पहले समीप के चंगरबंधा अस्पताल लाया गया था। यहां से 16 की हालत गंभीर होने पर जलपाईगुड़ी के अस्पताल रेफर किया गया।

सभी लोग सीतलकुची थाना एरिया के रहने वाले हैं। ASP ने कहा कि व्हीकल जब्त कर लिया गया है। ड्राइवर को ढूंढ़ा जा रहा है, ताकि हादसे की सही वजह पता चल सके।

जलपेश के शिव मंदिर में जल चढ़ाने निकले थे कांवड़िये

हादसे का शिकार हुए कांवड़िये जलपेश के शिव मंदिर में जल चढ़ाने निकले थे, तभी उनकी गाड़ी में करंट फैल गया। घायलों ने बताया कि पिकअप में डीजे बज रहा था। तभी चंगरा बंध में धारला नदी के पुल को पार करते ही अचानक लोग गिरने लगे।

कई तीर्थयात्रियों को बेहोश देखकर ड्राइवर पिकअप व्हीकल को चांगड़ा बंधा अस्पताल ले गया। वहां 10 लोगों को मृत घोषित कर दिया गया। घायल तीर्थयात्रियों को भी लगता है कि घटना जनरेटर से शॉर्ट सर्किट के कारण हुई।

यह भी पढ़ें : पंजाब की होटल में चल रहा था सेक्स रैकेट, लड़का-लड़की आपत्तिजनक हालात में थे...पुलिस पहुंची तो चादर लपेटने लगे

Share this story