ब्रेन हेमरेज ने ले ली 'भाभी जी' फेम दीपेश भान की जान, जानें क्या है ये बीमारी और इसके लक्षण

​​​​​​​

ब्रेन हेमरेज ने ले ली 'भाभी जी' फेम दीपेश भान की जान, जानें क्या है ये बीमारी और इसके लक्षण

Newspoint24/newsdesk/एजेंसी इनपुट के साथ

मुंबई ।  पॉपुलर टीवी सीरियल 'भाभी जी घर पर हैं' के एक्टर दीपेश भान  का निधन हो गया। तीन साल पहले दीपेश की शादी हुई थी। उनका एक बच्चा है। बताया जा रहा है कि जिम करने के बाद दीपेश क्रिकेट खेलने गए थे। उस दौरान वो अचानक गिर गए और अस्पताल लेकर जाने के दौरान उनकी मौत हो गई। बताया जा रहा है कि उनकी मौत ब्रेन हेमरेज  से हुई है। 

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो जब वो क्रिकेट खेल रहे थे उस दौरान उनका ब्लड प्रेशर ज्यादा हाई था। खेलते वक्त उन्हें बॉल जाकर लगी और अचानक गिर पड़े। जिसके बाद उन्हें ब्रेन हेमरेज हो गया। चलिए बताते हैं ब्रेन हेमरेज होता क्या है। इसके लक्षण और बचाव क्या है। 

क्या होता है ब्रेन हेमरेज
जब मस्तिष्क में आर्टरी फट जाती है जिसकी वजह से  टिश्यूज में ब्लीडिंग होने लगती है, इस स्थिति को ब्रेन हेमरेज कहते हैं। रक्तस्राव होने की वजह से मस्तिष्क की कोशिकाएं नष्ट हो जाती है। दिमाग के कई हिस्सों को भी नुकसान पहुंचाता है। चोट के साथ-साथ कुछ और स्थिति में ब्रेन हेमरेज की समस्या होती है। ब्रेन हेमरेज को आम भाषा में समझे तो दिमाग में नस का फटना होता है।रक्तस्राव की स्थिति को हेमरेज स्ट्रोक कहा जाता है।

ब्रेन हेमरेज के क्या कारण होते हैं
चोट के अलावा कई तरह की शारीरिक स्थितियां इसके कारण बन सकती है। इसका प्रभाव अलग-अलग उम्र के लोगों पर अलग-अलग हो सकते हैं। शिशुओं में जन्म के समय चोट या गर्भावस्था के दौरान मां के पेट में चोट लगने से ब्रेन हेमरेज हो सकती है। यह उम्रदराज लोगों में ज्यादा देखने को मिलती है। इसके अलावा ब्रेन हेमरेज के कारण-
सिर में चोट लगना
मस्तिष्क में धमनी विस्फार (धमनी में फैलाव और कमज़ोरी वाली जगह)
मस्तिष्क की धमनियों में कमजोरी
हाई ब्लड प्रेशर
रक्त या रक्तस्राव संबंधी विकार
लिवर की बीमारी
रक्त वाहिकाओं से संबंधित समस्याएं
मस्तिष्क का ट्यूमर
गलत दवाइयों का सेवन

ब्रेन हेमरेज की पहचान-
ब्रेन हेमरेज के दौरान कई तरह के लक्षण दिखाई दे सकते हैं। अगर समय पर इसकी पहचान हो जाती है तो बिना देर किए रोगी को डॉक्टर के पास ले जाना चाहिए। ब्रेन हेमरेज मेडिकल इमरजेंसी होती है। अचानाक झुनझुनी, शरीर का कमजोर महसूस करना, सुन्नता जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। इसके अलावा चेहरे, हाथ या पैर में लकवा भी ब्रेन हेमरेज की पहचान है। इसके अलावा अन्य लक्षण है- 

अचानक गंभीर सिरदर्द
नजर में दोष 
निगलने में कठिनाई
शरीर का संतुलन या समन्वय न बन पाना।
भ्रम या चीजों को समझने में कठिनाई
स्तब्धता, सुस्ती या बेहोशी
झटके आना।
बात करने में दिक्कत या ठीक से बोल न पाना

ब्रेन हेमरेज का इलाज
एमआरआई या सीटी स्केन करके ब्रेन हेमरेज का पता लगाया जाता है। अगर समस्या कम है तो दवाइयों के जरिए इसे ठीक किया जाता है नहीं तो सर्जरी की जरूरत पड़ती है। 

यह भी पढ़ें :  बिना गलाए-बिना भिगोए इस तरह बनाएं कुरकुरे साबूदाना वडा, बस 10 मिनट में हो जाएंगे तैयार

Share this story