मर गई बसपा की विचारधारा तो हो गया सपा में शामिल : सीताराम

Newspoint24/ संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ

Newspoint24/ संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ 

झांसी । हाल ही में बसपा से समाजवादी पार्टी में शामिल हुए कुशवाहा समाज के कद्दावर नेता सीताराम कुशवाहा ने बसपा की विचारधारा को ही मरा हुआ साबित कर दिया।

उन्होंने कहा 2017 तक ऐसा नहीं लगा था कि बसपा जन हितैषी नहीं है, लेकिन उसके बाद से जब उन्हें ऐसा लगा तो उन्होंने पूरी तरह सोचने-समझने के बाद बसपा का दामन छोड़कर साइकिल की सवारी कर ली। यह बात सीताराम कुशवाहा ने एक स्थानीय विवाह घर में पत्रकारों से कही।

बसपा में पिछले दो बार से सदर विधानसभा सीट के उम्मीदवार रहे सीताराम कुशवाहा ने कुछ दिनों पहले बसपा से नाता तोड़ते हुए साइकिल की सवारी करना पसंद किया।

उन्होंने सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से भेंट करते हुए अपने कुछ साथियों के साथ समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया। मंगलवार को पत्रकारों को संबोधित करते हुए उन्होंने बताया कि बसपा की विचारधारा मर गई है।

अब वह जनता के लिए कोई काम नहीं करना चाहती। पार्टी में कोई किसी की सुनता भी नहीं। पार्टी प्रमुख से मिलने के लिए बड़ी मुश्किल होती है। 2017 तक ऐसा नहीं था लेकिन उसके बाद पार्टी की हालत खराब है इसलिए उन्होंने अपने लोगों का भला देखते हुए बसपा से हाथ छुड़ा लिया और सपा में शामिल हो गए।

उनके साथ उनके करीब 200 समर्थक भी आज सपा में शामिल हो रहे हैं। ये वे लोग हैं जिन्होंने कांग्रेस छोड़ने के बाद उनका साथ नहीं छोड़ा और बसपा में जाने पर भी उनके साथ बसपा में जा पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी केवल ऐसी पार्टी है जो विपरीत समय में जनता के साथ खड़ी है और हर लड़ाई को डटकर लड़ रही है।

2022 में समाजवादी पार्टी की सरकार बनेगी। कांग्रेस से अपने राजनैतिक यात्रा की शुरुआत करने वाले सीताराम कुशवाहा कांग्रेस छोड़ बसपा में शामिल हो गए थे। वहां जब उनका मंतव्य सिद्ध नहीं हुआ तो उसके बाद अब उन्होंने सपा का दामन थाम लिया है। लोग इस इंतजार में भी हैं कि 2022 विधानसभा चुनाव के बाद अब वह किस पार्टी की ओर रुख करेंगे।

इस अवसर पर जिला अध्यक्ष महेश कश्यप,अजय सूद, श्याम सुंदर सिंह यादव,नरेंद्र झा आदि तमाम सपा नेता उपस्थित रहे। जिला अध्यक्ष महेश कश्यप ने कहा कि सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की नीतियों से प्रभावित होकर सीताराम ने सपा का दामन थामा है। उन्होंने कहा कि राम तो हमारे आराध्य थे ही अब हमारे पास सीताराम भी हैं।

हिन्दुस्थान समाचार

Share this story