शहीद ले. कर्नल हर्ष उदय सिंह गौर की प्रतिमा लगाने की शासन से मिली मंजूरी

Newspoint24/ संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ

Newspoint24/ संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ 

हरदोई । अशोक चक्र से सम्मानित ले. कर्नल हर्ष उदय सिंह गौर की जिला मुख्यालय पर लम्बे समय से प्रतिमा स्थापना की मांग को उत्तर प्रदेश शासन द्वारा मंजूरी दे दी गई है।

इस खुशी में सामाजिक संस्था आप और हम चेतना मंच की ओर से एक आवश्यक बैठक कर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं प्रदेश सरकार के प्रति आभार जताते हुए हर्ष व्यक्त किया गया। साथ ही प्रतिमा स्थापना के लिए शासन स्तर पैरवी के लिए जनप्रतिनिधियों को सराहा।

राष्ट्ररक्षा में कर्नल श्री गौर के बलिदान को सर्वोच्च बताते हुए चेतना मंच के पदाधिकारियों में संगठन के संघर्ष की जीत बताया। उन्होंने कहा कि तत्कालीन सरकार में शहीद ले. कर्नल गौर की प्रतिमा स्थापना में बाधाएं डाली गईं, पर वर्तमान योगी सरकार ने उनकी प्रतिमा स्थापित कराए जाने की स्वीकृति देकर शहादत को सम्मान दिया है।

जिससे 29 नवम्बर को उनके 28वें शहादत दिवस के साथ ही भारतीय सेना की इस पहल को भी सम्मान मिला है।

आप और हम चेतना मंच के संरक्षक अरुणेश वाजपेयी ने कहा कि राष्ट्र-समाज और परहित में हुए बलिदान से मां, माटी और मानवता का मस्तक ऊंचा होता है और यह सम्मान नीर निवासी अशोक चक्र विजेता शहीद ले. कर्नल हर्ष उदय सिंह गौर की शहादत से हरदोई जनपद को मिला है।

उन्होंने कहा कि शहीद ले. कर्नल गौर की जिला मुख्यालय पर प्रतिमा स्थापना के लिए आप और हम चेतना मंच की ओर से लम्बा जनांदोलन हुआ।

जिसमें जिले के जन-जन से एक लाख हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन तत्कालीन राज्यपाल रामनाईक को संस्था पदाधिकारियों ने सौंपा था और तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को भी जनहस्ताक्षरित ज्ञापन भेजा था।

पर सरकार की अनदेखी से शहादत को सम्मान नहीं मिला। आंदोलन जारी रहा और उस संघर्ष का परिणाम वर्तमान सरकार की मंजूरी के रूप में मिला जो शहीद और शहादत का सम्मान है।

चेतना मंच के संयोजक कमलेश पाठक एवं अध्यक्ष अनिल कुमार सिंह ने कहा कि शहीद ले. कर्नल गौर की प्रतिमा स्थापना के लिए सेना की ओर से 2015 से लगातार प्रयास किए गए। पर शासन-प्रशासन की अनदेखी एवं उपेक्षा से प्रतिमा नहीं स्थापित की जा सकी।

उन्होंने कहा कि इससे आहत होकर चेतना मंच की ओर से क्रांति दिवस पर अपने शहीद के सम्मान में ''नीर चलो'' यात्रा में उनकी जन्मस्थली नीर गांव पहुंचकर हजारों लोगों ने प्रतिमा स्थापना की मांग को दोहराते हुए अपनी जनभावनाओं से शासन-प्रशासन को झकझोरा।

मंच संयोजक कमलेश पाठक ने कहा कि शहीद ले.कर्नल गौर की प्रतिमा स्थापना के लिए चेतना मंच की पहल पर सांसद डॉ.अशोक बाजपेयी एवं विधायक माधवेन्द्र प्रताप सिंह रानू के प्रयास भी सराहनीय रहे, इसके साथ ही सभी ने प्रतिमा स्थापना आंदोलन में संस्था के संस्थापक अध्यक्ष स्व. सर्वाधार सिंह के प्रयासों को भी सराहा।

बैठक में भाजपा नेता पारुल दीक्षित, गौरक्षक एवं भाजपा नेता सुनील शुक्ल, सहकार भारती के गोविन्द सिंह, मंच उपाध्यक्ष राकेश सिंह, प्रताप सिंह, गिरीश बाजपेयी, मास्टर सिंह, युवा मंच जिलाध्यक्ष विकास पाठक व महामंत्री अंकुर चंदेल आदि ने शहीद ले. कर्नल गौर की प्रतिमा स्थापना की मंजूरी देने के लिए संस्था के संघर्ष की विजय के साथ ही मुख्यमंत्री एवं सरकार का आभार जताया।

हिन्दुस्थान समाचार

Share this story