कुशीनगर एयरपोर्ट पर उड़ान की तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटी रही स्पाइस जेट व एयरपोर्ट अथॉरिटी
 

Newspoint24/ संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ

Newspoint24/ संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ

कुशीगर । कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर 26 नवम्बर को लैंड करने वाले पहले कामर्शियल विमान 78 सीटर बॉम्बार्डियर क्यू-410 को वाटर कैनन सैल्यूट दिया जाएगा। बुधवार को एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया व विमानन कम्पनी स्पाइस जेट के अधिकारी तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटे रहे। 26 नवम्बर से इस एयरपोर्ट से नियमित उड़ान सेवा शुरू होने जा रही है।

फ्लाइट संख्या एसजी-2987 दिल्ली से लैंड करेगी। पुनः यही विमान फ्लाइट संख्या एसजी-2988 बनकर दिल्ली रवाना होगा। विशेष अवसरों को यादगार बनाने के लिए दुनिया भर के एयरपोर्ट्स पर यह सैल्यूट दिए जाने की परंपरा है।

किसी एयरपोर्ट पर एयरलाइन की पहली या आखिरी उड़ान पर, किसी खास एयरक्राफ्ट की पहली या आखिरी उड़ान पर या किसी विशेष अवसर को यादगार बनाने के लिए दी जाती है। यह परम्परा वायुसेना में भी है। जब भी कोई नया विमान सेना में कार्य शुरू करता है तो उसे वाटर कैनन सलामी दी जाती है।

कैसे दी जाती है सलामी

लैंड किये विमान को रनवे के दोनो तरफ से फायरब्रिगेड से पानी की बौछार की जायेगी। पानी की तेज धार से एक आर्च बनाया जाएगा। जिसके नीचे से विमान गुजरेगा। सूर्य किरणों के कारण यह इंद्रधनुष की तरह एक आकर्षक नजारे की तरह दिखाई देता है।

एयरपोर्ट निदेशक ए के द्विवेदी ने बताया कि वाटर कैनन सैल्यूट देने की तैयारियां चल रही है। फ्लाइट के सुरक्षित लैंडिंग व टेक आफ़ की तैयारी मुकम्मल है।

Share this story