यूपी चुनाव में जनता का रुख भांप मोदी ने काले कानूनों को लिया वापस : सपा

यूपी चुनाव में जनता का रुख भांप मोदी ने काले कानूनों को लिया वापस : सपा

Newspoint24/ संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ 

कानपुर । उत्तर प्रदेश में होने जा रहे विधानसभा चुनाव में जनता ने अपना रुख साफ कर दिया तो एक साल बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी किसान प्रेम दिखा रहे हैं।

उनका यह प्रेम सिर्फ छलावा साबित होगा और किसान इनके बहकावे में नहीं आने वाला है। चुनाव बाद फिर उद्योगपतियों के इशारे पर कृषि कानून लाएं जाएंगे, लेकिन जनता वह दिन लाने से पहले ही इनको सबक सिखा देगी। यह बातें शुक्रवार को सपा के नगर अध्यक्ष डा. इमरान खान ने कही।

समाजवादी पार्टी कानपुर महानगर अध्यक्ष डॉक्टर इमरान ने बताया कि देश के प्रधानमंत्री मोदी द्वारा किसानों के तीनों बिल वापस लेने की घोषणा जनता के साथ छलावा साबित होगा, क्योंकि उत्तर प्रदेश में आगामी 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा के खिसकते जनाधार से घबराकर तथा सपा की बढ़ती लोकप्रियता के कारण प्रधानमंत्री मोदी ने मौखिक तौर पर जनता व देश के किसानों को मूर्ख बनाने के लिए तीनों कृषि काले कानून वापस लेने की घोषणा की है।

डॉक्टर इमरान ने आगे बताया कि जब तक लोकसभा व राज्यसभा में किसान आंदोलन पर बहस के अंतर्गत सर्व सम्मत ध्वनिमत से यह काला कानून पास नहीं होता तब तक यह काला कानून वापस नहीं होगा।

बताया कि उत्तर प्रदेश में आगामी 2022 के विधानसभा चुनाव में प्रदेश की जनता ने भाजपा के प्रति दिखाई दे रहा आक्रोश के कारण प्रधानमंत्री मोदी ने मौखिक तौर पर किसान आंदोलन वापस लेने की घोषणा कर दी है। 

Share this story