सम्पूर्णानंद विवि के कुलपति हरेराम त्रिपाठी ने रक्षामंत्री से दिल्ली में की मुलाकात

Newspoint24/संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ

Newspoint24/संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ

वाराणसी । सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. हरेराम त्रिपाठी और संस्कृत भारती के अखिल भारतीय शास्त्र संरक्षण प्रमुख डॉ. संजीव राय ने रविवार को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से उनके नई दिल्ली स्थित आवास पर मुलाकात की।

मुलाकात के दौरान कुलपति प्रो.त्रिपाठी ने विश्वविद्यालय से शास्त्री की परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले छात्रों के मेडिकल एवं प्रवेश पत्र देने के बाद सेना में धर्म गुरु/शिक्षक पद पर भौतिक सत्यापन पर लगी रोक के मसले पर बातचीत की। उन्होंने रक्षामंत्री सिंह से इसके स्थायी समाधान की मांग की।

प्रो.त्रिपाठी ने बताया कि रक्षामंत्री सिंह से उनके नई दिल्ली आवास पर जाकर मुलाकात की। इस दौरान सेना में धर्म गुरु के चयन में शास्त्री को स्नातक मानते हुए उक्त परीक्षा में बैठने की अनुमति(पूर्व की भांति) देने के लिए वार्ता की।

कुलपति ने रक्षामंत्री को बताया कि शास्त्री की डिग्री को यूजीसी के मानक में बीए (स्नातक) और आचार्य की डिग्री को एमए (स्नातकोत्तर) की उपाधि के समकक्ष माना गया है।

कुलपति ने बताया कि इसके पूर्व भी धर्म गुरु के पद पर यहाँ से शास्त्री उपाधि धारकों का चयन सेना में किया गया है। चयन प्रक्रिया में जून 2021 में व्यवधान आया। इसके निराकरण पर भी वार्ता हुई।

कुलपति प्रो. त्रिपाठी ने बताया कि रक्षा मंत्री से इस वार्ता के क्रम में छात्रहित में स्थायी समाधान या अध्यादेश जारी करने का अश्वासन भी दिया है। उन्होंने बताया कि रक्षामंत्री सिंह को हम दोनों लोगों ने बाबा विश्वनाथ का प्रसाद, भभूत एवं विवि से प्रकाशित "सरस्वती सुषमा" का नवीन अंक भेंट किया।

कुलपति ने कहा कि जब तक इस समस्या का स्थायी समाधान नहीं हो जाता तब तक इस सम्बंध में प्रयास जारी रहेगा । इस सम्बंध में देश के अन्य 17 संस्कृत विश्वविद्यालयों के कुलपतियों के द्वारा भी रक्षामंत्री को पत्र लिखने और स्थायी समाधान या अध्यादेश जारी करने का सहयोग लेंगे।

Share this story