सहारनपुर : हैदरपुर वेटलैंड पर 19 हजार प्रवासी पक्षियों ने डाला डेरा

Saharanpur: 19 thousand migratory birds camped at Haiderpur Wetland
डब्ल्यूडब्ल्यूएएफ के कोआर्डिनेटर शाह नवाज, निखिल जान और यूपीएफटी के मोहन ने बताया कि इन पक्षियों में कई दुर्लभ प्रजाति के पक्षी भी शामिल हैं।

Newspoint24/ संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ 


 
सहारनपुर। सहारनपुर मंडल के प्रमुख हैदरपुर वेटलैंड पर इस बार नवंबर माह के पहले पखवाड़े में ही 19 हजार के करीब प्रवासी पक्षियों ने डेरा डालकर पक्षी विशेषज्ञों को चौंका दिया हैं।

पूर्व कमिश्नर और वर्तमान में प्रदेश के वित्त सचिव संजय कुमार ने इस हैदरपुर वेटलैंड की स्थापना करीब दो साल पहले की थी। वन विभाग के मंडलीय संरक्षक वीके जैन की भी महत्वपूर्ण भूमिका रही थी। 12 नवंबर को बर्डमैन माने जाने वाले डा. सालिम अली के जन्मदिवस 12 नवंबर को यहां प्रवासी पक्षियों की गणना की गई थी। डब्ल्यूडब्ल्यूएएफ और वन विभाग ने पक्षियों की गणना कराई थी। 121 प्रजाति के 18 हजार 242 पक्षी 12 नवंबर तक पहुंच चुके थे और ठंडे इलाकों से इन पक्षियों के हैदरपुर वेटलैंड पहुंचने का सिलसिला तेजी से जारी है।

डब्ल्यूडब्ल्यूएएफ के कोआर्डिनेटर शाह नवाज, निखिल जान और यूपीएफटी के मोहन ने बताया कि इन पक्षियों में कई दुर्लभ प्रजाति के पक्षी भी शामिल हैं। पक्षी विशेषज्ञ आशीश लोया ने बताया कि नवंबर के आखिरी तक बड़ी संख्या में और प्रवासी पक्षी हैदरपुर वेटलैंड पहुंच सकते हैं। सहारनपुर के कमिश्नर डा. लोकेश एम ने बताया कि वह शीघ्र ही हैदरपुर वेटलैंड के इन मनोरम दृश्यों को देखने जाएंगे और वहां की व्यवस्था का भी निरीक्षण करेंगे।

कमिश्नर डा. लोकेश एम ने कहा कि वरिष्ठ आईएएस एवं वित्त सचिव संजय कुमार ने उत्तर प्रदेश में दर्जनों दुर्लभ किस्म के वेटलैंड विकसित कराएं हैं। संजय कुमार उच्च श्रेणी के पक्षी विशेषज्ञ और जंगली जानवरों के फोटोग्राफर भी हैं एवं पर्यावरण में उनकी गहरी रूचि है। पक्षी एवं पर्यावरण प्रेमियों ने कहा कि संजय कुमार ने सहारनपुर मंडल में गंगा बैराज पर वेटलैंड की स्थापना करके जहां प्रवासी पक्षियों का हित साधा है वहीं पक्षी प्रेमियों को भी अनुपम भेंट प्रदान की है।

Share this story