कोरोना से जंग, मंडलायुक्त व जिलाधिकारी ने किशोरों को प्रदान की होम्योपैथिक दवा किट

कोरोना से जंग, मंडलायुक्त व जिलाधिकारी ने किशोरों को प्रदान की होम्योपैथिक दवा किट

Newspoint24/संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ

वाराणसी। कोरोना के तीसरी लहर से किशोरों को बचाने के लिए शनिवार से मेगा कोविड टीकाकरण अभियान की शुरुआत हुई। वाराणसी परिक्षेत्र के कमिश्नर दीपक अग्रवाल और जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने सिगरा खेल स्टेडियम स्थित कोविड टीकाकरण केंद्र का निरीक्षण किया। इस दौरान कमिश्नर व जिलाधिकारी ने टीका लगवाने आए किशोर-किशोरियों को होम्योपैथिक दवा किट भी प्रदान की।

साथ में मौजूद मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ संदीप चौधरी ने भी इसमें सहयोग कर केंद्र पर कोविड टीका लगवाने आए किशोरों से उनका हाल भी जाना। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने किशोरों से अपील की कि वह अपने मित्रों को भी जल्द से जल्द कोविड टीका लगवाने के लिए प्रेरित करें।

वरिष्ठ होम्योपैथिक चिकित्साधिकारी डॉ मनीष त्रिपाठी ने बताया कि आयुष मंत्रालय की ओर से कोरोना से बचाव के लिए होम्योपैथिक किट वितरण करने का निर्देश जारी किया गया था। इसी क्रम में स्टेडियम स्थित कोविड टीकाकरण केंद्र पर किट का वितरण शुरू किया गया है। उन्होंने बताया कि केंद्र पर 600 से अधिक लोगों को किट वितरित की गयी। दवा प्रातः दस बजे से अपराह्न दो बजे तक वितरित की जाएगी।| कुछ दिनों में और भी टीकाकरण केन्द्रों पर यह किट वितरित की जायेगी। उन्होंने बताया कि यह दवा किशोरों के साथ वयस्कों को भी दी जा रही है। इन दवाओं से ख़राश, वदन दर्द, सिरदर्द, मुंह सूखने, कमर दर्द, पैरों में दर्द, बेचैनी, हड्डियों और जोड़ों में दर्द, खांसी, बुखार आदि से राहत मिलेगी।

डॉ मनीष ने बताया कि होम्योपैथिक दवा किट में चार प्रकार की दवाएं वितरित की जा रही है। पहली इम्यूनिटी बूस्टर के लिए आर्सेनिक एल्बम 30 (लाल ढक्कन)। यह दवा प्रतिदिन चार गोली सिर्फ तीन दिन तक दी जानी है। दूसरी गले में ख़राश, बदन दर्द, सिर दर्द, और मुंह सूखने के लिए ब्रायोनिया एल्बम 30 (पीला ढक्कन)। यह दवा प्रतिदिन चार गोली तीन बार रोज आराम मिलने तक दी जानी है। तीसरा मांशपेशीयों में दर्द, कमर दर्द, पैरों में दर्द और बेचैनी के लिए रस टॉक्स 30 । यह दवा प्रतिदिन चार गोली तीन बार रोज आराम मिलने तक दी जानी है। चौथी हड्डियों और जोड़ों में दर्द, खांसी और बदन दर्द बुखार के लिए यूपीटोरियम पर्फ 30 । यह दवा प्रतिदिन चार गोली तीन बार रोज आराम मिलने तक दी जानी है।

उन्होंने बताया कि कोविड से मिलते जुलते लक्षण होने और तकलीफ़ बढ़ने पर अपने निकटतम चिकित्सक से अनिवार्य रूप से सम्पर्क करें। इस मौके पर एसीएमओ डॉ एके मौर्य, डीएचईआईओ हरिवंश यादव, डीएचओ डॉ रचना श्रीवास्तव, डॉ रुद्रेश्वर त्रिपाठी, डॉ दीपक सिंह, यूनिसेफ से डॉ शाहिद भी मौजूद रहे।

Share this story