पहल : अब डाकघरों से भी होगी रेलवे टिकट की बुकिंग,डाक परिक्षेत्र के 1699 डाकघरों से मिलेगी सेवा

पहल : अब डाकघरों से भी होगी रेलवे टिकट की बुकिंग,डाक परिक्षेत्र के 1699 डाकघरों से मिलेगी सेवा

Newspoint24/ संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ 

वाराणसी । डाकघरों में जनसामान्य की सुविधा के लिए कई सेवाओं का विस्तार किया जा रहा है। इसी क्रम में अब डाकघरों से रेलवे टिकट की बुकिंग भी हो सकेगी। इसके लिए लोगों को रेलवे स्टेशन या आरक्षण केंद्र तक जाने की जरुरत नहीं पड़ेगी, बल्कि अपने नजदीकी डाकघर से रेल टिकट बुक करा सकेंगे।

विभागीय डाकघरों के साथ-साथ गाँवों में स्थित शाखा डाकघरों में भी यह सेवा उपलब्ध होगी।

ये जानकारी वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने दी। पोस्टमास्टर जनरल ने सेवापुरी मॉडल ब्लॉक में आयोजित डाक मेले का शुभारंभ कर बताया कि विभाग यह सेवा इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन (आईआरसीटीसी) के माध्यम से देगा।

इसके लिए सभी डाकघरों के कर्मियों को प्रशिक्षण पश्चात् उनके यूजर आईडी और पासवर्ड जारी करने की प्रक्रिया चालू है।

उन्होंने बताया कि वाराणसी परिक्षेत्र के सभी 1699 डाकघरों में यह सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। डाकघरों में रेलवे टिकट की बुकिंग की सुविधा मिलने से स्टेशन के काउंटरों पर भीड़ का दबाव भी कम होगा।

घंटों कतार में भी नहीं लगना पड़ेगा। उन्होंने बताया कि वाराणसी (पश्चिम) डाक मंडल द्वारा विशेष अभियान चलाकर 3 हजार बच्चियों के सुकन्या समृद्धि खाते खुलवाए गए।

बच्चियों को पोस्टमास्टर जनरल ने प्रवर डाक अधीक्षक राजन राव और डाक अधीक्षक संजय कुमार वर्मा के साथ पासबुकें सौंपकर सुखद भविष्य की कामना की।

पोस्टमास्टर जनरल ने इस दौरान बताया कि नवम्बर और दिसंबर माह में पेंशनरों को जीवित प्रमाण पत्र कोषागार या सम्बंधित विभाग में जमा करने के लिए कोषागार/सम्बंधित बैंकों या जनसेवा केन्द्रों के चक्कर लगाने पड़ते हैं।

इससे निजात दिलाने के लिए डाक विभाग इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के माध्यम से घर बैठे डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट की सुविधा प्रदान कर रहा है।

अब डाकिया घर बैठे ही बायो-मेट्रिक डिवाइस के माध्यम से पेंशनर्स का जीवन प्रमाण पत्र बना देगा जिसके लिए मात्र 70 रूपये का शुल्क देना होगा। उन्होंने कहा कि, नीति आयोग द्वारा वाराणसी के सेवापुरी को मॉडल ब्लॉक के तौर पर विकसित किया जा रहा है।

इसके तहत डाक विभाग द्वारा भी लोगों को वित्तीय साक्षर बनाकर, वित्तीय समावेशन के क्षेत्र में अपनी भूमिका निभा रहा है। इस कड़ी में 43 डाकियों को प्रशिक्षित कर डिजिटल मित्र बनाया गया है और उनके द्वारा सेवापुरी ब्लॉक में अभी तक 14,000 से ज्यादा लोगों को वित्तीय तौर पर साक्षर किया जा चुका है।

इस योजना के तहत ही सेवापुरी ब्लॉक के अंतर्गत 9 फाइव स्टार विलेज, 33 संपूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम, 15 आईपीपीबी संपूर्ण सक्षम ग्राम और 8 संपूर्ण बीमा ग्राम बनाये गए हैं। उन्होंने बताया कि डाक विभाग द्वारा वित्तीय सेवाओं के बारे में जागरूकता के लिए 133 कैम्प लगाकर लोगों को वित्तीय समावेशन की और अभिप्रेरित किया गया है।

इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के माध्यम से व्यापारियों और विशेषकर महिला दुकानदारों का मर्चेंट एकाउंट खोलकर उन्हें डिजिटल पेमेंट के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। (पश्चिमी) मंडल के डाक अधीक्षक संजय कुमार वर्मा ने कहा कि डाक सेवाओं के प्रचार-प्रसार और इससे लोगों को आसानी से जोड़ने के लिए विभाग द्वारा विभिन्न स्तरों पर कैम्प और मेलों का आयोजन किया जा रहा है।

इस दौरान सहायक अधीक्षक आरके चौहान, निरीक्षक शशिकांत कन्नौजिया, इंद्रजीत पाल, इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक मैनेजर सुबलेश सिंह, पोस्टमास्टर सेवापुरी अनूप पाण्डेय, ग्राम प्रधान घोसिला पूजा सिंह, खादी ग्रामोद्योग मैनेजर श्याम प्रसाद विश्वकर्मा आदि की मौजूदगी रही।

हिन्दुस्थान समाचार

Share this story