आईआईटी कानपुर ने एसजीपीजीआई के साथ शुरु किया हेल्थ एटीएम

आईआईटी कानपुर ने एसजीपीजीआई के साथ शुरु किया हेल्थ एटीएम

Newspoint24/संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ

कानपुर। समाज के अंतिम आदमी तक स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से कानपुर आईआईटी ने एसजीपीजीआई लखनऊ के साथ हेल्थ एटीएम पर कार्य शुरु कर दिया है। इसके तहत आईआईटी में पहला हेल्थ एटीएम लगा दिया गया है, जो इंटरनेट से जुड़ा हुआ है।

इसके माध्यम से सरकारी सेवाओं का लाभ दूर दराज़ तक पहुंचाने में आसानी होगी। हालांकि अभी यह हेल्थ एटीएम प्रयोग के तौर पर आईआईटी में सेवाएं देगा। सफल होने पर इसको गांवों की ओर स्थापित किया जाएगा।

हेल्थ एटीएम का निर्माण करने वाले आईआईटी के प्रोफेसर आरके धीमान ने बताया कि एसजीपीजीआई (संजय गांधी पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज) लखनऊ के सहयोग से आईआईटी परिसर में हेल्थ एटीएम लगा दिया गया है।

इस एटीएम की सफलता के बाद इन्हें सुदूर गांवों में लगाया जाएगा, ताकि समाज के अंतिम आदमी तक स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ पहुंच सके। राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के तहत इस तकनीक से नागरिकों को डिजिटल माध्यम से स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ मिलेगा।

उनके पास इलेक्ट्रानिक मोड में अपना स्वास्थ्य रिकार्ड होगा। वहीं, एटीएम की मदद से स्वास्थ्य डाटा पर शोध करके भविष्य में आने वाली बीमारियों का पूर्वानुमान लगाया जा सकेगा, जिससे कई बमीरियों पर काफी हद तक रोकथाम लगाई जा सकेगी।उन्होंने कहा कि हेल्थ एटीएम कंप्यूटर, बायोमेडिकल डायग्नोस्टिक्स, पॉइंट-ऑफ-केयर प्रयोगशाला परीक्षण और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग सिस्टम को एकीकृत करता है।

आगे कहा कि दूरसंचार प्रौद्योगिकी की तीव्र प्रगति और इसकी तैनाती, विशेष रूप से, ऐसे पोर्टेबल कम लागत वाले एकीकृत प्लेटफॉर्म का उपयोग करके इंटरनेट पर स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने का एक अनूठा अवसर प्रदान करती है।

एटीएम में रहेगा व्यक्तिगत स्वास्थ्य रिकॉर्ड

प्रोफेसर ने बताया कि यह सिस्टम संस्था के कर्मचारियों और उनके आश्रितों के लिए एक इलेक्ट्रॉनिक व्यक्तिगत स्वास्थ्य रिकॉर्ड बनाएगा। इसके अलावा, मशीन लर्निंग टूल्स और प्रौद्योगिकियों का उपयोग करके उत्पन्न स्वास्थ्य डेटा पर शोध भविष्य कहनेवाला और व्यक्तिगत दवा के लिए नए रास्ते खोलेगा।

इस डेटा की मदद से यह एटीएम भविष्य में होने वाली बीमारियों का पूर्वानुमान लगा लेगा व समय से पहले आगाह कर देगा। यह एक एकीकृत कंप्यूटर है, जिसमें बायो-मेडिकल डायग्नोस्टिक्स, प्वाइंट ऑफ केयर प्रयोगशाला परीक्षण और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग सिस्टम है, जो टेली हेल्थ क्लिनिक को डॉक्टरों के साथ दूर से जोड़ने वाले इंटरनेट आधारित नेटवर्क से जुड़ा है।

10 मिनट में मिलेगी जांच रिपोर्ट

प्रोफेसर के मुताबिक स्वास्थ्य एटीएम के जरिये कई तरह की जांचें की जा सकती हैं, जिसमें लंबाई, भार, टेंपरेचर ब्लेडप्रेशर, शुगर, दिल की धड़कन की जांच की जा सकती है। हेल्थ चेकअप कराने के लिए सबसे पहले एटीएम में आईडी बनानी होगी, जबकि आईडी बानाने से पहले रजिस्ट्रेशन होगा।

जिसके लिए आधार नंबर व अन्य जानकारी देनी होगी। बताया कि आईआईटी में लगाए गए एटीएम से स्वास्थ्य जांचे महज दस मिनट में हो जाएंगी। इसके बाद इसका प्रिंटआउट भी लिया जा सकता है। इसमें लेजर सेंसर समेत कई तकनीकों का इस्तेमाल किया गया है।

Share this story