पंचनद धाम को राष्ट्रीय कुंभ मेले का दर्जा दिलाए जाने की चंबल में मुहिम तेज

पंचनद धाम को राष्ट्रीय कुंभ मेले का दर्जा दिलाए जाने की चंबल में मुहिम तेज

Newspoint24/ संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ 

औरैया । पंचनद कुंभ को राष्ट्रीय मेले का दर्जा दिलाने को लेकर चंबल फाउंडेशन के पदाधिकारी हस्ताक्षर अभियान चला रहे हैं। जिसे भारी जनसमर्थन मिल रहा है। सदियों से विश्व के पांच नदियों के अनोखे पवित्र संगम पर कार्तिक पूर्णिमा पर आस्था का जन सैलाब उमड़ता है।

धार्मिक और सांस्कृतिक विविधता को समेटे सिंध, पहुंज, क्वारी, चंबल और यमुना नदियों के अद्भुत संगम की विशाल जलराशि की प्राकृतिक सुंदरता अपने आप में अजूबी है।

चंबल परिवार इस गौरवशाली विरासत को विश्व से परिचित कराने के लिए पंचनद कुंभ नाम से दस्तावेजी फिल्म भी बना रहा हैं। जिससे विश्व भर के आध्यात्मिक और सांस्कृतिक जगत के लोग आकर्षित होगें और इस इलाके में पर्यटन बढ़ने से यहां रोजगार के आला मरकज खड़े हो जाएंगे।

पंचनद को विश्व मानचित्र से जोड़ने के लिए चंबल फाउंडेशन लंबे समय से अभियान चलाता रहा है। लेकिन शासन की बेरूखी से यहां की हालत जस की तस बनी हुई है।

चंबल फाउंडेशन से जुड़े डॉ. कमल कुमार कुशवाहा और मास्टर विनोद सिंह ने बताया कि सैकड़ों वर्ष पुराने पंचनद कुंभ और पंचनद मेले को राष्ट्रीय दर्जा दिलाने के हस्ताक्षर अभियान चलाया जा रहा है। अगर सरकारों नें जल्द ही इस मांग पर गौर किया तो यहां के रहवासियों की सूरत बदल जाएगी।

चंबल परिवार के संस्थापक चर्चित फिल्मकार ‘पंचनद कुंभ’ नाम से दस्तावेजी फिल्म का निर्माण करने में शिद्दत से लगे हुए हैं। फिल्म निर्माण के बाद इसे देश-विदेश के फिल्म समारोहों में प्रदर्शन के लिए भेजा जाएगा। ताकि विश्व हमारी पंचनद की थाती से रूबरू हो सके।

गौरतलब है कि, कार्तिक पूर्णिमा पर देश के कई हिस्सों से लोग सुनसान बीहड़ों के बीच पंचनद में डुबकी लगाने आते हैं। यहां एक सप्ताह तक पंचनद मेला चलता है जिसमें लाखों लोग पहुंचते हैं।

Share this story