बदली हालत तो गांव की सरकार बनाने मतदान केंद्रों पर उमड़ने लगी महिलाओं की भीड़

Newspoint24 / newsdesk

Newspoint24 / newsdesk

बेगूसराय । बिहार में त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन की चल रही प्रक्रिया के तृतीय चरण के मतदान में लोगों के बीच भारी उत्साह देखा जा रहा है। तृतीय चरण के तहत शुक्रवार को बेगूसराय जिला के दो प्रखंड वीरपुर एवं डंडारी में मतदान की प्रक्रिया सुबह सात बजे से शुरू हुई लेकिन मतदाताओं की भीड़ सवेरे से ही जुटने लगी थी। नक्सली समेत अन्य आपराधिक वारदातों के कारण कभी चर्चित रहे, इस दोनों प्रखंड में इस बार के चुनाव में भी मतदाताओं का अपने मताधिकार का प्रयोग करने के प्रति सजग विश्वास ''गांव की सरकार-अपना सुशासन'' के नई सोच की स्पष्ट झलक दिख रही थी। यहां के कई पंचायतों में आज से 12-15 साल पहले लोग पंचायत चुनाव में वोट गिराने से डरते थे। पहले तय कर दिया जाता था कि किसे वोट देना है, वोट की राजनीति में हत्याओं का दौर चलता था। राजनीति और आपराधिक रूप से चर्चित बेगूसराय जिला के भौगोलिक रूप से उल्टे इस दोनों क्षेत्र में मतदान के दिन भी बंदूकें गरजती थी, लाठी-भाला चलता था। लोग दहशत में जीते थे, पुलिस का नंगा नाच चलता था, अपराधियों और पुलिस दोनों आमजन को परेशान करते थे लेकिन हालत बदले तो लोगों की सोच बदली, लोग पिछले कुछ वर्षों की तरह ही अपने मन के प्रत्याशी को वोट देने के लिए उत्सुक हैं, उन्हें कोई डर नहीं है। वारदातों के लिए चर्चित जगदर गांव में अपने चहेते मुखिया को वोट देने के लिए महिलाएं घर में खाना बनाने से पहले मतदान करने आई थी।

राखी देवी, लक्ष्मी देवी आदि ने कहा कि हालात बदले हैं, अपने गांव की सरकार चुन नी है। ऐसे जनप्रतिनिधि को चुनना है जो विकास करे, सही को सही गलत को गलत कहे। हम लोग सभी पदों के लिए मतदान करेंगे, लेकिन सबसे महत्वपूर्ण है मुखिया और सरपंच। इस बार सरकार ने सरपंच को भी विकास के मामले में अधिकार दिया है। वीरपुर प्रखंड के आठ पंचायत में बनाए गए 113 मूल एवं छह सहायक मतदान केंद्र तथा डंडारी प्रखंड के आठ पंचायत में बनाए गए 93 मूल एवं छह सहायक मतदान केंद्र पर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। जोनल दंडाधिकारी, सुपर जोनल दंडाधिकारी, जोनल पुलिस पदाधिकारी, सुपर जोनल पुलिस पदाधिकारी सहित जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन, खुफिया विभाग की टीम मतदान केंद्र ही नहीं दोनों प्रखंड के 18 पंचायत और आसपास के सीमावर्ती प्रखंड की गतिविधियों पर भी लगातार नजर रख रही है डीएम अरविंद कुमार वर्मा एवं एसपी अवकाश कुमार विभिन्न क्षेत्रों का भ्रमण करते हुए खुद पल-पल की हालत पर नजर बनाए हुए हैं। सुरक्षा के साथ-साथ मतदाता रास्ते में किसी भी प्रत्याशी से हुए बिना घर से मतदान केंद्र तक कैसे पहुंचे, इस पर भी नजर रखी जा रही है।

हिन्दुस्थान समाचार

Share this story