वाराणसी : अभी शहरी क्षेत्र के लोगों के लिए 20 अप्रैल तक कार्यक्रमों के वास्ते अपर नगर मजिस्ट्रेट ही लेंगे फैसला 

Newspoint24.com/newsdesk

वाराणसी में कार्यक्रमों की अनुमति के लिए 20तक लागू रहेगी पुरानी व्यवस्था


वाराणसी। उत्तर प्रदेश के वाराणसी में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर शहरी क्षेत्र के लोगों के लिए 20 अप्रैल तक विभिन्न कार्यक्रमों के वास्ते अनुमति लेने की पुरानी व्यवस्था बनी रहेगी। यानी संबंधित थाना
क्षेत्र के अपर नगर मजिस्ट्रेट ही आवेदनों पर विचार कर फैसला करेंगे। 


जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि वाराणसी शहर में पुलिस आयुक्त व्यवस्था लागू होने का कार्य चल रहा है। फिलहाल सभी उच्च पुलिस अधिकारियों के कार्यालयों में समुचित व्यवस्था के साथ पर्याप्त कर्मचारियों की तैनाती नहीं हुई है। इसी वजह है इस माह की 20 तारीख तक पुरानी व्यवस्था जारी रखने का निर्णय लिया गया है।


निर्धारित अवधि तक शहर के विभिन्न हिस्सों में सम्बन्धित थाना क्षेत्र के अपर नगर मजिस्ट्रेट की स्वीकृति के बाद ही कार्यक्रम आयोजित किये जा सकेंगे। 


उन्होंने बताया कि सम्बन्धित अपर नगर मजिस्स्ट्रेट को पुलिस थानों का वितरण पूर्व के आदेशों के अनुसार ही लागू माना जाएगा। जिन कार्यक्रमों की अनुमति के लिए आवेदन प्राप्त होंगे उस क्षेत्र के थानों से सकारात्मक रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद कोविड-19 की निर्देशों के पालन करने की शर्तों के साथ इजाजत दी जा सकेगी।


जिलाधिकारी ने बताया कि सभी अपर नगर मजिस्ट्रेट को यह भी निर्देशित किये गये हैं कि सभी कार्यक्रमों के लिए पहले से लंबित सभी आवेदनों का निस्तारण अगले दो दिनों में करना सुनिश्चित करें।


गौरतलब है कि जिले में गत कई दिनों से कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। शुक्रवार को 223 और शनिवार पूर्वाह्न 11 तक 162 लोगों के जांच परिणाम में जानलेवा संक्रमण की पुष्टि हुई है।


जिले के संपूर्ण क्षेत्र में की निषेधाज्ञा लागू है। इसके तहत कोविड-19 से बचाव के लिए एहतियाती उपायों का पालन करना अनिवार्य किया गया है। होटल, मॉल, शॉपिंग मॉल, रेस्टोरेन्ट,बैंक्वेट हॉल, बारात घर, मैरेज हॉल आदि स्थानों पर मास्क का प्रयोग एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अनिवार्य कर दिया गया है। दुकानों का समय पूर्वाह्न नौ बजे से रात 09 बजे तक निर्धारित है। सभी दुकानें एवं व्यापारिक प्रतिष्ठान रात्रि नौ बजे बंद करने के आदेश हैं। निर्धारित अवधि के बाद दुकानें खुली पायी गयी, तो कानूनी कार्यवाही की चेतावनी दी गई है।

Share this story