यूपी : पहले परिणाम में प्रधान प्रत्याशी को दो वोटों से मिली जीत

यूपी : पहले परिणाम में प्रधान प्रत्याशी को दो वोटों से मिली जीत

newspoint24

लखनऊ उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का पहला परिणाम चंदौली जिले में सामने आया है जिसके प्रधान प्रत्याशी को मात्र दो वोट से जीत मिली है।
जिले की ग्राम सभा इसहुल से प्रधान पद के प्रत्याशी ओमप्रकाश ने जीत दर्ज की है। उन्होंने 470 मत प्राप्त कर 2 वोट से जीत दर्ज की है जबकि उनके निकटतम प्रत्याशी चंदन को 468 मत मिले। मतगणना कोरोना प्रोटोकाल के तहत कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच चल रही है। पीलीभीत से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार पूरनपुर थाना मंडी में काउंटिंग के दौरान जिला पंचायत सदस्य के कुछ प्रत्याशी आपस में भिड़ गए और देखते ही देखते मारपीट की नौबत आ गई। मौके पर मौजूद पुलिस बल को हालात पर काबू पाने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा। इसके बाद दोनों पक्षों को मौके से खदेड़ दिया गया। कुशीनगर में कोविड 19 के नियमोें का पालन कराते हुए पुलिस ने प्रधान पद के प्रत्याशी का चालान किया और एक हजार रूपये का जुर्माना लगाया। प्रधान पद के प्रत्याशी साजिद अली ग्राम मुरसेना बिना मास्क के घूम रहे थे।

मैनपुरी में मतगणना से पहले पुलिस ने प्रत्याशियों और एजेंटों की गेट पर तलाशी ली। उनकी थर्मल स्कैनिंग और आक्सीजन का स्तर चेक किया गया जिसके बाद उन्हे मतगणना स्थल पर प्रवेश दिया गया। जिला,क्षेत्र और ग्राम पंचायत सदस्यों के साथ ग्राम प्रधान पद के लिये हुये चुनाव की मतगणना प्रदेश के 75 जिलों में 829 केन्द्रों पर सुबह आठ बजे शुरू हुयी। इस चुनाव में 12 लाख 89 हजार 830 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होगा। कोरोना संक्रमण काल के बीच चार चरणों में हुये मतदान में लोगों ने उत्साह के साथ हिस्सा लिया था जिसके चलते हर दौर में मतदान का प्रतिशत बढ़ता चला गया। प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार कई जगहों पर मतगणना के दौरान कोविड प्रोटोकाल की अवहेलना देखी जा रही है। मतगणना स्थल के बाहर समर्थकों की भीड़ को नियंत्रित करने के लिये सुरक्षा बलों को कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है।

उधर , मतगणना केन्द्र के भीतर कोविड निगेटिव रिपोर्ट के बाद कर्मियों और एजेंट को प्रवेश दिया गया। केन्द्र के भीतर जाने से पहले सभी की थर्मल स्कैनिंग की गयी है और मतगणना स्थल को सैनीटाइज किया गया। पंचायत चुनाव में मतों की गिनती की लम्बी प्रक्रिया है। इस दौरान कर्मचारियों की ड्यूटी बदलती रहेगी। हर विकासखंड पर हर घंटे नतीजों की घोषणा की जाएगी।
इस बीच कोरोना संक्रमण के मद्देनजर प्रत्याशियों को विजय जुलूस निकालने की सख्त मनाही है। राज्य निर्वाचन आयुक्त मनोज कुमार ने निर्देया दिये है कि उम्मीदवार विजय जुलूस नहीं निकाले। आदेश की अवहेलना करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी। गौरतलब है कि चुनाव के पहले चरण में 15 अप्रैल को 18 जिलों में करीब 71 प्रतिशत लोगों ने वोट डाले थे जबकि दूसरे चरण में 20 जिलों के 72 प्रतिशत लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था। तीसरे चरण में 73.5 प्रतिशत और चौथे में 75.38 फीसदी वोटिंग हुई थी।

Share this story