यूपी: गुलाबी गैंग लोकतांत्रिक ने थाने का किया घेराव 

Newspoint24.com/newsdesk

फतेहपुर । जिले में शनिवार को महिला उत्पीड़न एवं हत्या मामले को लेकर गुलाबी गैंग लोकतांत्रिक ने थाने का घेराव कर पीड़ित के साथ न्याय करने की मांग करते हुए पुलिस पर आरोपी के साथ मिलीभगत व पक्षपात करने का आरोप लगाया। गुलाबी गैंग लोकतान्त्रिक अध्यक्ष हेमलता पटेल के नेतृत्व में संगठन की महिलाएं पीड़ित परिवार के साथ खखरेरू थाना पहुंची। महिला उत्पीड़न के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए थाना का घेराव किया। थानाध्यक्ष के माध्यम से जिलाधिकारी को सम्बोधित ज्ञापन सौंपा। थाना का घेराव करने हेतु बाध्य महिलाओं का प्रकरण यह रहा कि सईदा बेगम नाम की महिलाओं की ग्राम सिमौर थाना गाज़ीपुर की मूल निवासी थी जिसकी शादी 2 वर्ष पूर्व महबूब पुत्र कबूल अली, ग्राम किशुनपुर चिरयी थाना खखरेरू के साथ हुई थी। 29 नवम्बर की मध्य रात्रि पति व ससुरालीजनों द्वारा हत्या कर दी गयी। 

सईदा के परिजनों ने बताया कि ससुराल पक्ष के लोग आये दिन दहेज़ की मांग किया करते थे इस गरीबी के बावजूद भी हमसे जितना अधिक से अधिक हो सका हमने किया परन्तु इसके बाद भी दहेज के भूखे लोगों ने हमारी बेटी को मार डाला। थाना में हमारी एफआईआर तो लिखी गई परन्तु अब एक माह से अधिक का समय बीत जाने के बाद भी ऐसा कृत्य करने वालों पर पुलिस द्वारा कोई भी कार्यवाही नहीं की गई अतः हम न्याय चाहते हैं हमारी बेटी को न्याय मिले दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाये इसके लिए हम गुलाबी गैंग लोकतांत्रिक के साथ थाने आये हुए हैं। पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने हेतु गुलाबी गैंग लोकतांत्रिक ने थाना में घेराव करते हुए यह मांग रखी की घटना की निष्पक्ष जांच कराते हुए अभियुक्तों को गिरफ्तार कर ठोस कार्यवाही की जाये। पीड़ित परिवार को न्याय दिलाया जाये।

अध्यक्ष हेमलता पटेल ने कहा कि दिन प्रतिदिन महिला उत्पीड़न के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। भ्रष्टाचार के चलते पीड़ितों को न्याय नहीं मिल पाता है, पुलिस द्वारा हिला हवाली भी की जाती है। हम व हमारा संगठन समाज में ब्याप्त भ्रष्टाचार के विरुद्ध एवं महिलाओं पर हो रहे उत्पीड़न के खिलाफ संघर्षरत हैं। इस प्रकरण पर थानाध्यक्ष ने बताया है विवेचना क्षेत्राधिकारी द्वारा की जा रही है निष्पक्ष जांच करते हुए त्वरित कार्यवाही जल्द से जल्द की जाएगी। अध्यक्ष हेमलता पटेल नें कहा कि हमें पूर्ण आशा है की इस प्रकरण का निवारण करते हुए पीड़ित परिवार को न्याय दिया जायेगा अन्यथा की स्थिति में हम बृहद आंदोलन करने हेतु बाध्य होंगे जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी शासन, प्रशासन की स्वयं होगी। इस दौरान अध्यक्ष हेमलता पटेल के साथ सरला सिंह, राजरानी, चेतरानी, प्रीती, शहरुन, रामश्री, नीलू, सुमन,कैलाशा, पुष्पा, सुनीता, निर्मला, रानी, कमला, रामरती, आमना, अंजना आदि महिलाएं मौजूद रहीं। 

Share this story