यूपी: सरकारी अनाज की सूचना पर अधिकारियों ने मारा रामा फ्लोर मिल पर छापा

Newspoint24.com/newsdesk

मेरठ। जिले में सरकारी अनाज की कालाबाजारी रोकने में जुटी प्रशासनिक विभाग की टीम ने गुरुवार को रामा फ्लोर मिल में छापेमारी की। इस दौरान आपूर्ति विभाग और प्रशासनिक अधिकारियों की टीम को ऐसा कोई साक्ष्य नहीं मिला, जिससे मिल मालिकों द्वारा सरकारी अनाज की खरीद-फरोख्त की पुष्टि हो सके। मिल में घंटों जांच करने के बाद अधिकारी वापस लौट गए। 

किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा गुरुवार को प्रशासनिक अधिकारियों को सदर क्षेत्र स्थित रामा फ्लोर मिल में ट्रकों से सरकारी अनाज उतारे जाने की सूचना दी गई थी। जिसके बाद आनन-फानन में एसडीएम सदर सुनीता सिंह और डीएसओ नीरज सिंह ने अधिकारियों की टीम के साथ मिल पर रेड की। इस दौरान प्रशासनिक और आपूर्ति विभाग के अधिकारियों ने मिल में गेहूं की बोरी उतार रहे ट्रकों की जांच करते हुए उनमें लोड अनाज के विषय में भी पूछताछ की। 

एसडीएम सदर सुनीता सिंह ने बताया कि काफी देर चली जांच-पड़ताल के दौरान कोई संदिग्ध चीज हाथ नहीं लगी। पूछताछ के दौरान जानकारी मिली है कि यह ट्रक इलाहाबाद से अनाज लेकर आए थे। इनमें छत्तीसगढ़ के कुछ सरकारी बोरों में भी अनाज भरा हुआ था। जांच के दौरान सामने आया है कि यह अनाज सरकारी नहीं था। बल्कि अनाज के यह खाली बोरे किसी ट्रेडर्स से खरीदे गए थे। इसी के साथ सभी ट्रक चालकों ने इलाहाबाद से लेकर मेरठ तक के टोल आदि की पर्चियां भी दिखाई हैं। एसडीएम सदर के मुताबिक मिल में सरकारी अनाज की खपत की सूचना झूठी पाई गई। जिसके बाद आपूर्ति और प्रशासनिक विभाग के अधिकारियों की टीम वापस लौट गई। 

Share this story