यूपी: मरीजों के अधिकारों का हनन किसी भी दशा में नहीं होंगे बर्दाश्त :  सीएमओ

Newspoint24.com/newsdesk

हमीरपुर हमीरपुर में रोगी अधिकार जागरूकता अभियान के तहत गुरुवार को आयोजित जिलास्तरीय कार्यशाला में सीएमओ डा.आरके सचान ने कहा कि मरीजों के अधिकारों के हनन को किसी भी दशा में बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। उन्होंने कहा कि मरीजों के अधिकारों के चार्टर को भी अब अपनाया जायेगा। सीएमओ अपने कार्यालय में आक्सफैम इण्डिया, स्वास्थ्य अधिकार, हेल्थ वाच फोरम व समर्थ फाउन्डेशन के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित जिलास्तरीय कार्यशाला में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि मरीजों के अधिकारों के प्रति जागरूक करने के लिये सभी सरकारी और निजी अस्पतालों में नागरिक अधिकारों को लागू किया जायेगा। ए.सीएमओ डा. रामऔतार ने कहा कि यह एक अच्छी पहल है। मरीजों को अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होना चाहिये।

जिला कार्यक्रम प्रबंधक एनएचआरएम सुरेन्द्र कुमार साहू ने कहा कि वह अपने स्तर से इन अधिकारों के प्रति सभी को जागरूक करने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे। सामाजिक कार्यकर्ता देवेन्द्र गाँधी ने बताया कि राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग द्वारा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मन्त्रालय की विनाह पर 30 अगस्त 2018 को मरीजो के 13 तरह के अधिकार बाले इस चार्टर को जारी किया जिसे स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार के द्वारा मरीजों के 13 अधिकार सुनिश्चित किये जाने के लिए व मरीजों के अधिकार चार्टर को सभी राज्य सरकारों को लागू करने के लिए निर्देश 2 जून 2019 को दिए गए है। 

उन्होंने कहा निजी अस्पतालों द्वारा अत्यधिक मुनाफाकोरी, नैतिक उल्लघंन और मरीजो के शोषण कर मामलर देश में अत्यधिक है। कोविड-19 महामारी ने निजी अस्पतालों और उनकी शोषणकारी प्रवित्ति को बेनकाब कर दिया हैं। इन खामियों को दूर करने का यही सही समय है। उन्होंने कहा के मरीजों के अधिकारों के चार्टर को अपनाया जाए और ऐसे लागू किया जाए। इस कार्यशाला में डॉ मुकेश, डॉ अनूप निगम, रामप्रकाश डीपीपीएस, गणेश प्रसाद एडीआरओ, सुरजीत मिश्रा, पीयूष वर्मा, सुनीत वैश्य, मंजरी गुप्ता डीसीपीएम, अजय वर्मा, नारायणदास, योगेश कश्यप, अनुपमा, गौरीश राजपाल, आरके यादव आदि प्रमुख रूप सें उपस्थित रहे।

Share this story