यूपी: बैठक से नदारत अधिशाषी अभियंता नलकूप प्रखंड पर कार्रवाई

Newspoint24.com/newsdesk

हमीरपुर। किसान कल्याण मिशन की कार्ययोजना को लेकर यहां आयोजित बैठक में नदारत रहने पर जिलाधिकारी ने नलकूप प्रखंड के अधिशाषी अभियंता के खिलाफ कार्रवाई करते हुये वेतन रोकने के आदेश दिये है। उन्होंने अधिकारियों को अल्टीमेटम देते कहा कि बिना अनुमति के मुख्यालय से बाहर जाने पर दोषी अधिकारी बख्शें नहीं जायेंगे।

 कलेक्ट्रेट मीटिंग हाल में जिलाधिकारी ज्ञानेश्वर त्रिपाठी शनिवार को किसान कल्याण मिशन की कार्ययोजना को लेकर महत्वपूर्ण बैठक कर रहे थे। उन्होंने कहा कि किसान कल्याण मिशन का क्रियान्वयन भव्य व प्रभावी ढंग से किया जाए, इसके लिए सभी संबंधित विभागों द्वारा अभी से तैयारियां पूर्ण कर ली जाएं। यह मिशन जनपद में 3 सप्ताह तक चलेगा, इस मिशन के अंतर्गत सभी विकास खंडों में कृषि तथा सहवर्ती सेक्टर यथा उद्यान ,पशुपालन, मत्स्य पालन,मंडी परिषद, पशुपालन विभाग, खाद एवं रसद विभाग ग्रामीण विकास ,पंचायती राज विभाग ,सिंचाई विभाग, रेशम ,नेडा ,वन विभाग ,बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग आदि द्वारा अपने विभागीय योजनाओं से संबंधित प्रदर्शनी लगाई जाएगी तथा स्टॉल लगाकर विभिन्न योजनाओं के आवेदन लिए जाने की कार्रवाई की जाएगी। 

किसान कल्याण मिशन के अंतर्गत विकासखंड कुरारा व गोहांड में ०6 जनवरी, मौदहा व सरीला में 13 जनवरी को, सुमेरपुर, राठ व मुस्करा में 21 जनवरी को  प्रदर्शनी/ गोष्ठी का वृहद कार्यक्रम आयोजित कर कृषकों को लाभान्वित किया जाएगा। इस हेतु संबंधित खंड विकास अधिकारी को जिलाधिकारी ने नोडल अधिकारी नामित किया है इसके अलावा सभी विकास खंडों हेतु अलग-अलग पर्यवेक्षक अधिकारी भी नामित किये गए  है। किसान कल्याण मिशन की कार्ययोजना के अनुसार कृषि विभाग द्वारा कृषि उत्पादन संगठन/ एफपीओ की जानकारी, जैविक खेती के प्रोत्साहन आदि के बारे में जागरूक करने हेतु प्रदर्शनी लगाकर कृषकों को जागरूक किया जाएगा।

किसानों को व्हाट्सएप ग्रुपों के माध्यम से जोड़कर विभागीय योजनाओं के बारे में जागरूक किया जाएगा तथा उनको कार्यक्रम स्थल पर आने हेतु प्रोत्साहित किया जाएगा। कार्यक्रम स्थल पर कृषि विभाग द्वारा केसीसी की स्वीकृति पत्र का वितरण भी कराया जाएगा। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ,फसलों के सुरक्षा के दृष्टिगत कृषि रक्षा रसायन के वितरण की व्यवस्था ,पराली प्रबंधन , पीएम कुसुम योजना तथा अन्य संबंधित योजनाओं के बारे में कृषकों को जागरूक किया जाएगा। कृषि विज्ञान केंद्र द्वारा खेती में कृषि की नवीनतम तकनीकों का प्रयोग करने हेतु कृषकों को एक दिवसीय प्रशिक्षण कराया जाएगा। उद्यान विभाग द्वारा ड्रिप व स्प्रिंकलर सिंचाई पद्धति का लाइव प्रदर्शन किया जाएगा तथा उद्यान विभाग के बागवानी मिशन, खाद्य प्रसंस्करण आदि के बारे में जागरूक किया जाएगा।

Share this story