यूपी: नगर विकास मंत्री ने समीक्षा बैठक बोले, सुधारें  स्वच्छता सर्वेक्षण में रैंकिंग

Newspoint24.com/newsdesk

लखनऊ। नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ने सोमवार को आठ जिलों में स्वच्छता सर्वेक्षण के तहत विकास कार्यों की समीक्षा बैठक वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिए की। इसमें डोर-टू-डोर कलेक्शन सहित कई मुद्दों पर चर्चा की। स्वच्छता सर्वेक्षण में सभी नगर निकायों को अपनी रैंकिंग के सुधार करने के स्पष्ट निर्देश दिए। नगर विकास मंत्री ने कहा कि सफाई व्यवस्था बनाए रखने के लिए कूड़े का सही निस्तारण जरूरी है। मलिन बस्तियों, गैर आवासीय, वाणिज्यिक, संस्थागत परिसर और घरों से रोजाना कूड़े का डोर-टू-डोर कलेक्शन करें। इसके अतिरिक्त कचरा उठाने की प्रक्रिया के लिए कवर्ड वाहनों को प्रयोग में लाए जाने के निर्देश दिए हैं। 

बैठक में घरों से निकलने वाला सूखे कचरे का पृथक्करण, कार्यालयों और सार्वजनिक जगहों पर हर 50 से 100 मीटर पर कचरे के डिब्बे रखने, 5 लाख से ज्यादा आबादी वाले शहरों में कचरा ट्रांसफर स्टेशन की स्थापना करने, कचरे के उठान के लिए कचरा वाहनों के वर्गीकरणकचरा उठाने वाले वाहनों में जीपीएस का उपयोग अनिवार्य करने और पब्लिक और कर्मशियल स्थानों पर दिनभर में दो बार सफाई की व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए है। 

उन्होंने कहा कि स्थानीय निकाय रिसाइकिल न किए जा सकने वाले कूड़े के लिए सेनिटरी लैंडफिल स्थापित करें। वायु एवं जल प्रदूषण के स्तर मानकों के अनुरूप लाने तथा लिगेसी वेस्ट के निर्धारित समयावधि में निस्तारण की विषयगत प्रगति भी सुनिश्चित करें। आठ नगर निगमों के नगर आयुक्तों और मेयर के स्वच्छता सर्वेक्षण से जुड़े सुझावों और समस्याओं को सुना और उनके शीघ्र निस्तारण के निर्देश दिए। बैठक में नगर विकास सचिव अनुराग यादव, स्थानीय निकाय निदेशालय की निदेशक डॉ. कॉजल जी मौजूद रहीं। इनके अलावा गाजियाबाद, मेरठ, मुरादाबाद, आगरा, मथुरा, फिरोजाबाद, अलीगढ़ और सहारनपुर के नगर आयुक्त और मेयर मौजूद रहे।

Share this story