यूपी : आपत्तिजनक गाने को लेकर भोजपुरी गायिका नेहा सिंह पर वाद दर्ज

Newspoint24.com/newsdesk    

जौनपुर। भोजपुरी गाना चला देखि आई जौनपुर के बीएड कॉलेजमें जनपद की बीएड करने वाली महिलाओं के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी को लेकर वादी रवि प्रकाश पाल की दरख्वास्त पर बिहार निवासी गायिका नेहा सिंह राठौर पर मंगलवार को एसीजेएम चतुर्थ ने वाद दर्ज हुआ है। इस मामले की अगली सुनवाई 20 को होगी। 

वादकारी रवि प्रकाश पाल, धनंजय तिवारी एवं प्रमोद यादव से विचार विमर्श के बाद दीवानी न्यायालय के अधिवक्ता हिमांशु श्रीवास्तव व उपेंद्र विक्रम सिंह ने रजिस्टर्ड डाक से गायिका को गत माह लीग नोटिस भेजा था। नोटिस में गायिका से 15 दिन के भीतर जनपद वासियों से लिखित माफी मांगने एवं उसे सोशल मीडिया पर प्रसारित करने की बात कही गई। अन्यथा वादकारियों व जनपद वासियों की अपहानि एवं मानहानि के लिए न्यायालय में केस दाखिल करने की बात कही गई।

जवाब न देने पर बरसठी के पूरेसवा निवासी रवि प्रकाश पाल ने अधिवक्ता हिमांशु श्रीवास्तव व भूपेंद्र विक्रम सिंह के माध्यम से कोर्ट में प्रार्थना पत्र दिया कि गायिका द्वारा गाने को सोशल मीडिया पर प्रमोट किया गया जो जिले से संबंधित है। गाने की शैली एवं भाव भंगिमा तथा शब्द अत्यंत अपमानजनक करने वाला है। यहां से बीएड करने वाली महिलाओं के बारे में अपमानजनक शब्द गाने में कहे गए हैं, जिससे महिलाओं की गरिमा गिरी साथ ही तीनों वादकारी को भी मानसिक कष्ट पहुंचा। 17 दिसम्बर 2020 को वादी व गवाह धनंजय तिवारी व प्रमोद यादव ने गाना सुना। 

गाने के माध्यम से महिलाओं के विषय में अपमान, नफरत एवं असंतोष पैदा किया गया। सामाजिक सौहार्द बिगड़ने का प्रयास किया गया। जनपद की बीएड करने वाली महिलाओं के बारे में नकारात्मक छवि समाज में प्रस्तुत करने का प्रयास किया गया। पब्लिसिटी स्टंट के लिए गाने में अनर्गल बेबुनियाद, मिथ्या एवं आधारहीन शब्द प्रयोग किए गए हैं जो कानून की विभिन्न धाराओं में दंडनीय है।


 

Share this story