यूपी : प्रतापगढ़ में अब तक 2200 मैट्रिक धान की खरीद हुई

Newspoint24.com/newsdesk

प्रतापगढ़ । प्रतापगढ़ जिले के नोडल अधिकारी मण्डलायुक्त प्रयागराज आर रमेश कुमार ने शुक्रवार को लोक निर्माण विभाग कुण्डा में कोविड-19, धान क्रय केन्द्र, गो संरक्षण केन्द्र, विकास कार्यक्रमों सहित महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर अधिकारियों के साथ समीक्षा की।  बैठक में मण्डलायुक्त को जानकारी दी गई कि धान क्रय केन्द्रों पर लगभग 90 प्रतिशत का लक्ष्य पूर्ण कर लिया गया और जल्द ही बचे हुये लक्ष्य की प्राप्त कर ली जायेगी। बैठक के दौरान मण्डलायुक्त ने जिला खाद्य विपणन अधिकारी से जानकारी प्राप्त करते हुये पूछा कि किस तहसील में सबसे ज्यादा धान क्रय केन्द्रों पर खरीद हुई तो बताया गया कि लालगंज तहसील अन्तर्गत 23000 मैट्रिक टन धान की खरीद का लक्ष्य था जिसमें से 22000 मीट्रिक टन की खरीद हो चुकी है। 

जनपद को 60000 मीट्रिक टन का लक्ष्य निर्धारित किया गया था जिसमें से अब तक क्रय केन्द्रों पर 53941.943 मीट्रिक टन की खरीद की जा चुकी है। मण्डलायुक्त ने अपर जिलाधिकारी को निर्देशित किया कि धान क्रय केन्द्रों पर निरीक्षण कर वहां पर उपस्थित किसानों से जानकारी प्राप्त कर लें कि उनको धान विक्रय में किसी भी प्रकार की समस्या तो नही हो रही है, किसी विचौलियें द्वारा परेशान तो नही किया जा रहा है।

 मण्डलायुक्त ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि किसानों की समस्या का प्राथमिकता से निस्तारण करें, किसानों से मिलकर सरकार की योजनाओं की जानकारी दे और उनको लाभान्वित कराने का प्रयास भी करें। नहरों में पानी और वरासत के सम्बन्ध में निर्देशित किया कि नहरों में टेल तक पानी अवश्य पहुॅचे, सभी उपजिलाधिकारी अपने लेखपालों से रिपोर्ट लें कि किस नहर में पानी की उपलब्धता कम है, उस रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई तय करें। मण्डलायुक्त ने कोरोना वैक्सीन की तैयारियों के सम्बन्ध में आवश्यक निर्देश दिए। कोल्ड चेन सेन्टरों का तापमान वैक्सीन के मुताबिक रखने के लिये लगातार बिजली की आवश्यकता होगी ऐसे में हाई पावर जेनरेटर लगाए जाएंगे। मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि कोरोना वैक्सीन से सम्बन्धित जो भी व्यवस्थायें पूर्ण कर ली गयी है उसका किसी सक्षम अधिकारी से सत्यापन करा लिया जाये और स्वयं भी उसकी निगरानी करते है, कोरोना वैक्सीन के कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दास्त नही की जायेगी। 

 मण्डलायुक्त ने निर्देशित किया कि मण्डियों में मुख्य द्वार पर बड़ी सी होर्डिंग लगवायी जाये और उसमें किसानों से सम्बन्धित योजनाओं एवं अन्य महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर प्रकाश डाला जाये जिससे किसानों को शासन द्वारा चलायी जा रही योजनाओं के विषय में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त हो सके। उन्होने निर्देशित किया कि तसहील क्षेत्रों में वसूली की प्रगति बढ़ायी जाये और इसकी साप्ताहिक बैठक निरन्तर करायी जाये जिससे वसूली के प्रगति के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त होती रहे। 

Share this story