केन्द्रीय मंत्री व प्रदेश कारागार मंत्री पहुँचे जिला अस्पताल, अव्यवस्था देख जताई नाराजगी

केन्द्रीय मंत्री व प्रदेश कारागार मंत्री पहुँचे जिला अस्पताल, अव्यवस्था देख जताई नाराजगी

Newspoint24.com/newsdesk

 फतेहपुर । ऑक्सीजन की कमी व अव्यवस्था से जूझ रहे जिला अस्पताल का बुधवार को केन्द्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति व प्रदेश के कारागार मंत्री जयकुमार सिंह जैकी निरीक्षण करने पहुँचे। कई घंटों से बाधित ऑक्सीजन से मरीज बेहाल देख मंत्री द्वय ने जिम्मेदार अधिकारियों को फटकार लगाई। बाद में अधिकारियों की बैठक कर तत्काल व्यवस्था सुधार कर ऑक्सीजन आपूर्ति सुचारू रूप से बहाल करने की हिदायत दी।

 जिले की सांसद व भारत सरकार की ग्रामीण विकास राज्य मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति व प्रदेश सरकार के कारागार राज्यमंत्री जयकुमार सिंह जैकी सदर अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी की मिल रही शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए औचक निरीक्षण करने पहुँची। उन्हें इस बात की शिकायत मिल रही थी कि सदर अस्पताल में ऑक्सीजन की आपूर्ति में बाधा आ रही है। जिसके वजह से मरीजों की स्थिति बदतर होती जा रही है। 

मंत्री द्वय के पहुंचने के 4 घंटे पूर्व से ऑक्सीजन आपूर्ति बंद पड़ी थी। उन्होंने आनन-फानन वहां पर रखे हुए सिलेंडरों की जांच की तो सिलेंडर वहां पर कम प्राप्त हुए। मंत्री ने मुख्य चिकित्साधिकारी को फोन किया तो उनका फोन स्विचऑफ आने पर केन्द्रीय मंत्री ने नाराजगी जताई। 

उन्हें बताया कि सिलेंडर रिफिल होने के लिए मलवा ऑक्सीजन प्लांट भेजे गए हैं तब भी 15 16 सिलेंडर इतने बड़े अस्पताल के लिए पर्याप्त नहीं है ऐसा साध्वी जी को प्रतीत हुआ सदर अस्पताल का प्रशासन समय से सिलेंडरों को रिफिल नहीं करवा पा रहे एक सरकारी वाहन है जो समय से आपूर्ति नहीं कर पा रहा ऐसे में साध्वी जी ने अपने कार्यालय प्रमुखों से कहा एक गाड़ी की व्यवस्था मेरी तरफ से कर दी जाए जो दो शिफ्ट में सिलेंडर रिफिल का काम करें इसके उपरांत कोविड-19 को लेकर के ही गांधी सभागार में जिलाधिकारी अपूर्वा दुबे, सीएमओ, सीएमएस के साथ बैठक की। 

बैठक में केन्द्रीय मंत्री ने सदर अस्पताल को और सिलेंडर उपलब्ध कराने के लिए निर्देशित देते हुए जिलाधिकारी से कहा कि सिलेंडर बढ़ा दिए जाएं। सदर अस्पताल के साथ ही L1 व L2 को भी और सिलेंडर उपलब्ध कराये जाए। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी से कहा कि सदर अस्पताल में डॉक्टर की संख्या कम है और डॉक्टर बुलवाएं जिससे कोविड के अलावा अन्य बीमारियों का भी इलाज सुचारू रूप से चलता रहे। जिलाधिकारी ने बताया कि अगले दो-तीन दिनों में गांव गांव में कोरोना के इलाज के लिए किट वितरण किया जाएगा। जिससे लोग अपना प्राथमिक उपचार शुरू कर सकेंगे। साथ ही निजी अस्पतालों में भी कोविड-19 सेंटर खोलने का प्रस्ताव किया गया है और उन्हें कोविड की सभी आवश्यक दवाएं उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।

Share this story