तिब्बत के लामाओं ने कुशीनगर में शुरू किया विशेष अनुष्ठान

तिब्बत के लामाओं ने कुशीनगर में शुरू किया विशेष अनुष्ठान

Newspoint24 / newsdesk

कुशीनगर । तिब्बत के बौद्ध भिक्षुओं के 36 सदस्यीय दल ने शुक्रवार को गौतम बुद्ध की महानिर्वाणस्थली कुशीनगर में विशेष अनुष्ठान ''फामा निंथिक द्रुपछें'' शुरू किया। नौ दिन तक चलने वाले अनुष्ठान के दौरान लामा विश्व शांति व कोविड-19 की शांति के लिए प्रार्थना करेंगे। बौद्ध भिक्षु कांगड़ा हिमांचल प्रदेश के चोकलिंग मॉनेस्ट्री में प्रवास करते हैं।

बिरला धर्मशाला में लामा रिंपोछे ओजेन तोब्जे के निर्देशन में अनुष्ठान प्रारम्भ किया गया। अनुष्ठान की शुरुआत विशेष रूप से निर्मित मंडला (बुद्ध का घर) के समक्ष स्मोक वर्शिप (अग्नि पूजा) से हुई। यह लगभग एक घंटे तक चली। इस तिब्बती वाद्य यंत्र ड्यूमा व शंख की ध्वनि से पूरा परिसर गूंज उठा। मंडला में बुद्ध की प्रतिमा रखकर सुरक्षा के लिए देवताओं की प्रतिमा लगाई गई है। दोपहर बाद दो बजे से शाम सात बजे तक पृथ्वी से अनुमति लेकर विभिन्न पूजन सामग्री के साथ अनुष्ठान शुरू हुआ। शनिवार से 17 सितंबर तक पूजा की समाप्ति तक लगातार दिन-रात सूत्र पाठ चलता रहेगा। इसके पूर्व यह पूजा सारनाथ में भी हुई थी। गुरु के निर्देशन में यह पूजा अन्य बौद्ध तीर्थ स्थलों पर भी होगी। लामा जिग्मे,बेदुनकोवा ओल्गा सहित अनेक श्रद्धालु पूजा में भाग ले रहे हैं।

हिन्दुस्थान समाचार

Share this story