श्रीराम के राज्याभिषेक में भी आयीं थी बाधाएं, 39 माह में बनेगा मंदिर : चंपत राय

newspoint24.com/newsdesk

कानपुर। किसी भी अच्छे काम में अड़चनों का आना स्वाभाविक है और अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण भी इससे अछूता नहीं रहा। यहां तक कि भगवान श्रीराम के राज्याभिषेक के दौरान भी बाधाएं आयी थीं, पर बाद में राज्याभिषेक हुआ। 

इसी प्रकार अब मंदिर निर्माण का रास्ता साफ हो गया है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भूमि पूजन भी कर दिया है। देश भर के राम भक्तों से दान लिया जाएगा और 36 से 39 माह में अयोध्या में भव्य राम मंदिर बन जाएगा। यह बातें रविवार को कानपुर में विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) के केन्द्रीय उपाध्यक्ष व श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के महामन्त्री चंपत राय ने कही। 

गौरतलब है, राम मंदिर आंदोलन के दौरान कानपुर एक बड़ा केन्द्र रहा और यहां के राम भक्तों ने आंदोलन में बढ़—चढ़कर भाग लिया था। बजरंग दल के तत्कालीन क्षेत्रीय अध्यक्ष प्रकाश शर्मा पर तो मुकदमा भी चला जो हाल ही के दिनों में खत्म हुआ। कानपुर परिक्षेत्र में राम भक्तों की अच्छी खासी संख्या को देखते हुए श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के महामंत्री चंपत राय मंदिर निर्माण में सहयोग धनराशि को लेकर रविवार को कानपुर पहुंचे। यहां पर वह पदाधिकारियों के साथ बैठक करेंगे और आगामी योजनाओं पर टोलियों के साथ चर्चा भी करेंगे। 

प्रेस वार्ता कर उन्होंने बताया कि दान संग्रह के अभियान की शुरुआत 14 जनवरी से शुरू हो कर 42 दिन तक चलेगी। इस दौरान हम घर-घर, गांव-गांव तक जाएंगे। इस अभियान के तहत हम देश की आधी आबादी लगभग 55 से 60 करोड़ लोगों तक पहुचेंगे और सहयोग प्राप्त करेंगे। इस दौरान उन्होंने लोगों से ज्यादा से ज्यादा दान देने की अपील भी की। उन्होंने कहा कि अच्छे काम में बाधाएं आती हैं। राम के तो राज्याभिषेक में भी बाधाएं आई थीं इस लिये बाधायें आती रहेंगी, लेकिन मंदिर करीब 36 से 39 माह में बनकर तैयार हो जाएगा। मंदिर निर्माण में मुस्लिमों के सहयोग के सवाल पर कहा कि ऐसे कई लोगों द्वारा अभी से ही बिना नाम, पता बताए ही बड़ी राशि के चेक प्राप्त हो रहे हैं। इससे अधिक क्या हम कह सकते हैं। मंदिर निर्माण में देश के सभी लोगों से सहयोग लिया जाएगा। 

हनुमान के भक्त हैं मुलायम

उन्होंने विपक्षी दल पर चुटकी लेते हुए कहा कि सोनिया गांधी, ममता बनर्जी, अखिलेश यादव और शरद पवार सभी के यहां राम मंदिर निर्माण के लिए दान लेने जाएंगे। वहीं, ओवैसी से चंदा लेने के सवाल पर कहा कि, ओवैसी को दूर से मेरा सलाम है। वहीं सलाम पर उनका कहना है कि ओवैसी पहले अपनी जड़ें खोजें। अखिलेश यादव के बयान पर चम्पत राय ने कहा कि उनके पिता मुलायम सिंह यादव प्रभु राम के परम भक्त हनुमान के भक्त हैं। 

Share this story