नक्सली हमले में शहीद चंदौली के बहादुर धर्मदेव का अंतिम संस्कार मणिकर्णिका घाट पर हुआ 

Newspoint24.com/newsdesk

 वाराणसी। छत्तीसगढ़ के बीजापुर नक्सली अटैक में चंदौली के वीर लाल शहीद कोबरा बटालियन के कमांडो धर्मदेव का परिजनों  ने  शाम को वाराणसी के मणिकर्णिका घाट पर अंतिम संस्कार किया ।

इस दौरान गांव के हजारों लोगों ने शहीद को नम आंखों से श्रद्धांजलि दी। प्रशासनिक अधिकारियों के काफी मनाने के बाद परिजन माने। डीएम और एसपी ने बेसुध पड़े पिता और भाई को समझाया। इस दौरान शहीद के गांव बड़ागांव थाना क्षेत्र के ठेकहां में धर्मदेव को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।

 शहीद धर्मदेव कुमार का पार्थिव शरीर आज सुबह 10:20 बजे बड़ागांव थाना क्षेत्र के गांव ठेकहां पहुंचा था।

शहीद के पार्थिव शरीर को उनके घर के सामने मैदान में रखा गया था । लेकिन कई घंटों तक शहीद धर्मदेव के माता-पिता और पत्नी सहित परिवार में से कोई भी सदस्य शहीद को देखने नहीं आया।

शहीद के परिजन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और रक्षामंत्री राजनाथ सिंह को बुलाने की मांग पर अड़े हुए थे। वहीं मौके पर स्थानीय विधायक और सांसद के नहीं पहुंचने पर ग्रामीण और ज्यादा आक्रोशित हो गए थे।

शहीद का पार्थिव शरीर कई घंटे तक गांव के चौराहे पर रखा रहा था। बाद में डीएम और एसपी के समझाने पर अंतिम संस्कार के लिए राजी हुए। 

Share this story