वृंदावन इस्कान के पदाधिकारी के खिलाफ धोखाधड़ी की रिपोर्ट

Newspoint24.com/newsdesk

मथुरा । उत्तर प्रदेश की कान्हा नगरी मथुरा के इस्काॅन मंदिर के एक पूर्व पदाधिकारी के खिलाफ वृन्दावन कोतवाली में धोखाधड़ी एवं गबन करने की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।
पुलिस सूत्रों ने सोमवार को बताया कि इस्काॅन वृन्दावन के सचिव देबाशीष घोष द्वारा पुलिस में लिखाई गई रिपोर्ट के अनुसार पूर्व पीआर निदेशक सौरम त्रिविक्रम दास ने समिति की दान की रसीद बुक से लिए गए दान को न तो मन्दिर के एकाउन्ट विभाग में जमा किया और ना ही रसीद बुक को लौटाया है। उसने दस जून 2020 को अपने सहायक अद्वैत आचार्य दास से कहा कि वह मन्दिर के एकाउन्ट विभाग से एक दान की रसीदबुक ले आये क्योंकि कुछ लोग दान देना चाहते हैं। उसने बाद में अपने सहायक से रसीद बुक ले ली मगर न तो कोई धनराशि ही लेखा विभाग में जमा किया और ना ही रसीद बुक जमा किया तथा मांगने पर टालमटोल करता रहा।
25 फरवरी से वह मन्दिर के प्रबंधतंत्र को बताए बिना गायब हो गया और रिपोर्ट लिखने तक मन्दिर में नही आया है।
रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि उसको कई बार फोन किया गया लेकिन उसने न तो जवाब दिया और ना ही रसीद बुक जमा की। रसीद बुक उसी के पास है क्योंकि समाचार मिलने तक उसने रसीद बुक के खोने की रिपोर्ट वृन्दावन कोतवाली में नही लिखाई है।
रिपोर्ट में इस बात की आशंका व्यक्त की गई है कि सौरम त्रिविक्रम दास पुरानी रसीद की तरह नई रसीद छपवाकर इस्काॅन के भक्तों, दानदाताओं से दान ले सकता है।
उधर, इस्काॅन वृन्दावन के सचिव घोष ने एक पत्र के माध्यम से सूचित किया है कि इस्काॅन वृन्दावन में पिछले तीन वर्ष से कार्य कर रहे सौरभ त्रिविक्रम दास की सेवाएं 19 फरवरी 2021 से समाप्त कर दी गई हैं तथा वह इस्काॅन सोसाइटी की किसी सेवा में नही है।

Share this story