पंजाब चुनाव 2022: 24 घंटे पहले कांग्रेस छोड़ने वाले जोगिंदर सिंह ने AAP जॉइन की, 50 साल बाद बदली पार्टी

पंजाब चुनाव 2022: 24 घंटे पहले कांग्रेस छोड़ने वाले जोगिंदर सिंह ने AAP जॉइन की, 50 साल बाद बदली पार्टी

Newspoint24/संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ

चंडीगढ़। पंजाब में चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। 24 घंटे पहले कांग्रेस छोड़ने वाले दिग्गज नेता जोगिंदर सिंह मान ने आखिरकार आम आदमी पार्टी जॉइन कर ली। कयास लगाए जा रहे थे कि कांग्रेस मान को मना लेगी।

ये भी कहा जा रहा था कि मान ने कांग्रेस पर दबाव डालने के लिए इस्तीफे की पेशकश की है। लेकिन, इन तमाम चर्चाओं पर विराम लगाकर मान ने शनिवार सुबह आप जॉइन कर ली। आप संयोजक अरविंद केजरीवाल ने मान को पार्टी की सदस्यता दिलाई। उनके साथ पंजाब के सहप्रभारी राघव चड्ढा भी मौजूद थे। माना जा रहा है कि मान को आप फगवाड़ा से मैदान में उतारेगी।

बता दें कि जोगिंदर सिंह मान पंजाब सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं। कपूरथला जिले की फगवाड़ा विधानसभा सीट से 3 बार विधायक भी रहे हैं। जोगिंदर सिंह मान पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री बूटा सिंह के भांजे हैं। मान कांग्रेस से 50 साल से जुड़े थे।

आरोप है कि पार्टी ने लगातार उपेक्षा की और इसी के कारण पुराने नाते को खत्म करके आप में शामिल हो गए। वह वर्तमान में पंजाब एग्रो इंडस्ट्रीज कॉर्पोरेशन के अध्यक्ष थे।

चार सरकारों में मंत्री रहे हैं जोगिंदर सिंह

जोगिंदर सिंह फगवाड़ा को जिला ना बनाए जाने और पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप घोटाले में कार्रवाई ना किए जाने से नाराज थे और इसी वजह से उन्होंने कांग्रेस छोड़ने की बात कही है।

ये भी कहा जा रहा है कि इस बार टिकट ना मिलने की संभावना से नाराज होकर उन्होंने पार्टी छोड़ दी है। जोगिंदर सिंह पंजाब में बेअंत सिंह, रजिंदर कौर भट्ठल, हरचरन सिंह बराड़ और कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं।

सिद्धू की वजह से घोटाले करने वाले बच गए
जोगिंदर सिंह ने कहा है कि कांग्रेस लगातार जनमुद्दों की अवहेलना कर रही है। फगवाड़ा को लेकर कई बार मांग की गई। इसके बावजूद अभी तक जिला नहीं बनाया गया। डॉ. बीआर अंबेडकर पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप घोटाले में कार्रवाई नहीं की गई। दलितों के बच्चों के हित्तों की रक्षा करने में सरकार फेल रही है।

ये दलित समाज के साथ सरासर धोखा है। उन्होंने कहा कि वह चाहते थे कि उनकी मौत के बाद उनकी लाश कांग्रेस के झंडे में लिपटे, लेकिन नवजोत सिंह सिद्धू जैसे नेताओं की तरफ से पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप स्कीम के आरोपियों को पार्टी में पनाह दी गई, जिसके कारण उनका जमीर अब पार्टी में रहने की इजाजत नहीं देता। इससे आहत होकर वह भरे मन से कांग्रेस को छोड़ रहे हैं।

Share this story