'श्रीकृष्ण के प्रसाद' रूप में दुनिया में जायेगा पेप्सिको इंडिया का उत्पाद : योगी

'श्रीकृष्ण के प्रसाद' रूप में दुनिया में जायेगा पेप्सिको इंडिया का उत्पाद : योगी

newspoint 24 / newsdesk / एजेंसी इनपुट के साथ 


कोसीकलां में 29 एकड़ में फैले ग्रीन फील्ड फूड्स प्लांट का वर्चुअल तरीके से मुख्यमंत्री ने किया शुभारंभ

मथुरा । भारत सरकार के आत्मनिर्भर विजन से प्रेरित होकर पेप्सिको इंडिया ने कोसीकलां मथुरा में 29 एकड़ में फैले अपने ग्रीनफील्ड फूड्स प्लांट की कमीशनिंग की। जिसके प्लांट का शुभारंभ बुधवार को वर्चुअल तरीके से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार शाम को किया।

सीएम योगी ने कहा कि प्लांट में बनने वाला उत्पाद कृष्ण की ब्रजभूमि के प्रसाद के रूप में देश और दुनिया में जाएगा। जिससे किसानों का जीवन परिवर्तन होगा, युवाओं को रोजगार मिलेगा।

कहा कि यह प्लांट किसानों को आत्मनिर्भर बनाने एवं विकास की साझेदारी का मील का पत्थर बनेगा तथा किसानों और युवाओं की उन्नति का कारण बनेगा। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि शासन स्तर पर जिन सुविधाओं को पाने की पेप्सिकों की यह इकाई अधिकारी हैं उसके लिए इन्हें भटकना न पड़े।

उन्होंने कहा कि यूपी न केवल देश का सबसे बड़ा खाद्यान्न उत्पादन करने वाला राज्य है बल्कि प्रकृति और परमात्मा का यहां अनूठा संगम है, जिसके कारण यहां पर निवेश का अनुकूल वातावरण है। उन्होंने कहा कि आगरा और अलीगढ़ मण्डल के आठ जिलों में आलू बहुत होता है यदि यहां के किसानों को समय पर बीज और प्रशिक्षण करेंगे तो पेप्सिको की इस इकाई के साथ किसान को भी लाभ होगा।

गौरतलब है कि मथुरा में 814 करोड़ रुपये के निवेश से लगाया गया कोसीकलां फूड्स प्लांट भारत में मैन्युफैक्चरिंग में किया गया, पेप्सिको इंडिया का अभी तक का सबसे बड़ा ग्रीनफील्ड निवेश है। यह कंपनी की पहली मेक ऐंड मूव फैक्ट्री है, जो कंपनी के आलू चिप्स के आइकॉनिक ब्रांड लेज की बढ़ती मांग को पूरा करने में मदद करेगी। यह अत्याधुनिक फूड्स प्लांट उत्तर प्रदेश सरकार के औद्योगीकरण के नेतृत्व वाले विकास एजेंडे के अनुकूल है। उत्तर प्रदेश ने सुधारों व उद्योग हितैषी नीतियों पर ध्यान केंद्रित कर आत्मनिर्भर बनने की दिशा में तेज कदम उठाए हैं। इन्हीं सब कोशिशों के कारण उत्तर प्रदेश भारत में कारोबारी सुगमता के मामले में दूसरे स्थान पर पहुंच गया है, जिससे रोजगार के अधिक अवसर उपलब्ध होंगे और किसानों की आय बढ़ाने में मदद मिलेगी।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि ब्रज भूमि के किसानों की वर्षाें से मांग थी कि उनके क्षेत्र में खाद्य प्रसंस्करण की अत्याधुनिक इकाइयां स्थापित हों। प्रदेश सरकार की औद्योगिक नीति के अन्तर्गत पेप्सिको ने कोसी कलां में निवेश किया है। आज पेप्सिको द्वारा स्थापित इकाई का उद्घाटन किया गया है। सरकार व निवेशक जब मिलकर सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़ंेगे, तो इसके सकारात्मक परिणाम इसी रूप में सामने आएंगे। उन्होंने विश्वास जताया कि राज्य सरकार और पेप्सिको की साझेदारी उन्नति, विश्वास तथा स्वावलम्बन की साझेदारी होने के साथ ही, प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के आत्मनिर्भर भारत के संकल्पों को आगे बढ़ाने की भी साझेदारी होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के औद्योगिक विकास के लिए बनायी गयी नीतियों के तहत निवेशकों द्वारा राज्य में बड़े पैमाने पर निवेश किया जा रहा है। यह निवेश किसानों के जीवन में व्यापक परिवर्तन का आधार बन रहा है। साथ ही, इससे नौजवानों के लिए रोजगार का सृजन हो रहा है। 04 वर्ष पूर्व प्रदेश में आलू उत्पादक किसान संकट में था। ऐसी स्थिति में आलू उत्पादक किसानों को उनके उत्पाद का उचित मूल्य दिलाने के लिए राज्य सरकार ने आलू का न्यून्तम समर्थन मूल्य घोषित किया, जिससे किसानों के सामने असहाय जैसी स्थिति पैदा न हो और उन्हें आलू का उचित मूल्य प्राप्त हो सके। पेप्सिको इण्डिया द्वारा स्थापित प्लाण्ट से इस क्षेत्र के किसानों को लाभ मिलेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें अवगत कराया गया कि कोसी कलां में स्थापित फूड्स प्लाण्ट यूनिट के माध्यम से डेढ़ लाख मीट्रिक टन आलू का प्रति वर्ष प्रसंस्करण किया जाएगा। पेप्सिको इण्डिया किसान भाइयों के साथ पहले से ही साझेदारी करते हुए उनके उत्पाद का उचित मूल्य प्रदान करने के लिए पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि कोसी कलां में स्थापित प्लाण्ट खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में आलू उत्पादक किसानों की दृष्टि से मील का पत्थर साबित होगा। इस खाद्य प्रसंस्करण इकाई से किसानों को अपने उत्पादों को बेचने के लिए एक मंच मिला है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश देश का सबसे बड़ा खाद्यान्न उत्पादक राज्य है। प्रदेश में पर्याप्त जल संसाधन एवं उर्वरा भूमि मौजूद है। प्रदेश में किसानों की बड़ी संख्या एवं देश का सबसे बड़ा बाजार है। प्रदेश में 24 करोड़ जनता निवास करती है। साथ ही, यहां पर निवेश के लिए अनुकूल वातावरण भी है। ब्रज क्षेत्र में आगरा एवं अलीगढ़ मण्डलों के 08 जनपदों में बड़े पैमाने पर आलू उत्पादन होता है। इस यूनिट की स्थापना इस क्षेत्र के आलू उत्पादक किसानों की आमदनी कई गुना बढ़ाने में सहायक होगी।

औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने कार्यक्रम को वर्चुअल माध्यम से सम्बोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में प्रदेश में औद्योगिक विकास के नये युग की शुरुआत हुई है। सरकार, किसानों और उद्यमियों के बीच विश्वास पैदा हुआ है। प्रदेश सरकार के सहयोग से पेप्सिको द्वारा कोसी कलां में दो वर्ष से भी कम समय में खाद्य प्रंसस्करण इकाई की स्थापना की गयी है। यहां प्रति वर्ष डेढ़ लाख टन आलू का प्रसंस्करण किया जाएगा। प्लाण्ट की स्थापना से 1500 लोगों को प्रत्यक्ष तथा बड़ी संख्या में लोगों को परोक्ष रूप से रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।

दुग्ध विकास मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने कार्यक्रम को वर्चुअल माध्यम से सम्बोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के मार्गदर्शन में जनपद मथुरा में पर्यटन विकास, बिजली, सड़क आदि विभिन्न विकास कार्य सम्पन्न कराये गये हैं। मुख्यमंत्री के प्रयास से प्रदेश में पेप्सिको की इकाई स्थापित हुई है। इससे किसानों को लाभ होगा। साथ ही, युवाओं को रोजगार के अवसर भी सुलभ होंगे।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए प्रेसिडेण्ट पेप्सिको इण्डिया अहमद अलशेख ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा पेप्सिको इण्डिया के कोसी कलां, मथुरा फूड्स प्लाण्ट का उद्घाटन पेप्सिको के लिए गर्व का विषय है। राज्य सरकार के सहयोग से दो वर्ष से भी कम समय में इस प्लाण्ट को स्थापित कर प्रारम्भ कराया जा रहा है। यह पेप्सिको इण्डिया का भारत में स्थापित सबसे बड़ा खाद्य प्रसंस्करण प्लाण्ट है।

सी0ई0ओ0 ए0एम0ई0एस0ए0 पेप्सिको यूजीन विलेम्सन ने भी कार्यक्रम को वर्चुअल माध्यम से सम्बोधित किया। कार्यक्रम के दौरान पेप्सिको द्वारा निर्मित एक लघु फिल्म ‘उन्नति की साझेदारी’ भी प्रदर्शित की गयी।

इस अवसर पर मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं एम0एस0एम0ई0 श्री नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास श्री अरविन्द कुमार सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Share this story