लखीमपुर घटना को लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं में आक्रोश

Newspoint24 / newsdesk

Newspoint24 / newsdesk

लखनऊ । भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं में लखीमपुर घटना को लेकर आक्रोश देखने को मिल रहा है। आवाज उठ रही है कि भाजपा कार्यकर्ताओं की बेरहमी से हत्या करने वालों की गिरफ्तारी कब होगी? कार्यकर्ताओं में नाराजगी इतनी है कि वह पार्टी पदों से इस्तीफा दे रहे हैं। भाजपा कार्यकर्ताओं ने सोशल मीडिया पर भी लिखना शुरू कर दिया है। कार्यकर्ताओं की नाराजगी का कारण भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह का एक बयान भी बताया जा रहा है जिसमें वह नेतागिरी का मतलब बता रहे हैं। वायरल वीडियो में वह कह रहे हैं कि नेतागिरी का मतलब हम लूट, भ्रष्टाचार और फार्च्यूनर से कुचलना नहीं है।

उत्तर प्रदेश के लखीमुपर खीरी जिले में गत तीन अक्टूबर को आंदोलरत किसानों पर कथित तौर पर केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के पुत्र आशीष मिश्र की गाड़ी चढ़ गयी थी। गाड़ी से कुचले जाने की वजह से चार किसानों की मृत्यु हो गयी थी। साथ में आशीष मिश्र के ड्राइवर और भाजपा कार्यकर्ताओं समेत चार अन्य की भी मौत हुई थी। कुल मिलाकर इस घटना में आठ लोगों की जान गयी। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने तत्परता से कार्रवाई की।

प्रदर्शनकारी किसानों की मौत के आरोप में अशीष मिश्र समेत अन्य की गिरफ्तारी हुई है। सत्ताधारी दल के कार्यकर्ताओं का कहना है कि भाजपा कार्यकर्ताओं की लाठी डंडों से पीट-पीट कर हत्या करने वालों की गिरफ्तारी नहीं हुई है, उन आरोपियों की गिरफ्तारी कब होगी? भाजपा कार्यकर्ताओं को मारने वालों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो वह पार्टी से इस्तीफी दे देंगे।

इसी क्रम में कई कार्यकर्ताओं ने इस्तीफा दे भी दिया है। लखीमपुर जिले में भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच पनपे आक्रोश से पार्टी भी चिंतित है। हालांकि पार्टी इस पूरे मुद्दे पर बोलने से कतरा रही है।

हिन्दुस्थान समाचार

Share this story