हनुमानगढ़ की घटना को लखीमपुर से कम्पेयर करने पर बोले गहलोत बीजेपी वाले बेवकूफी कर रहे हैं देश के अंदर 

 हनुमानगढ़ की घटना को लखीमपुर से कम्पेयर करने पर बोले गहलोत बीजेपी वाले बेवकूफी कर रहे हैं देश के अंदर भी और प्रदेश के अंदर भी

Newspoint24 / newsdesk / एजेंसी इनपुट के साथ 

 

जयपुर। हनुमानगढ़ की घटना को लखीमपुर से कम्पेयर करने पर राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत बोले ये बेवकूफ लोग हैं, कोई बेवकूफों की कमी है क्या देश के अंदर? ये बेवकूफ लोग बीजेपी वाले बेवकूफी कर रहे हैं, बीजेपी वाले बेवकूफी कर रहे हैं देश के अंदर भी और प्रदेश के अंदर भी, बिना मतलब कंपेयर करते हैं। बार-बार कहते हैं कि प्रियंका गांधी जी को, राहुल गांधी जी को राजस्थान में क्यों नहीं आना चाहिए? 

राजस्थान में सरकार हमारी है। आप राजनाथ सिंह जी को कहो, आप अमित शाह जी को कहो, वो आकर देखें यहां पर, वो गृह मंत्री हैं। विपक्ष की सरकारें जहां हैं या सरकारें सत्तापक्ष की हैं यूपी हो चाहे वहां हम लोग जाएंगे, विपक्ष के लोग हैं हम लोग।

 ऐसी बेवकूफी की बातें बोलते मैं पहली बार नेताओं को देख रहा हूं जो मुख्यमंत्री के उम्मीदवार बने बैठे हैं, वो ऐसी बेवकूफी की बातें कर रहे हैं कि राजस्थान में प्रियंका गांधी जी, राहुल गांधी जी क्यों नहीं आते हैं? वो तो उनकी सरकार है वहां पर तो, वो वहां जाएंगे जहां सत्ता पक्ष की सरकारें हैं। हमारे यहां प्रधानमंत्री जी को आना चाहिए, गृह मंत्री जी को आना चाहिए, जेपी नड्डा जी को आना चाहिए, देखिए जाकर हनुमानगढ़ में क्या हुआ, किस प्रकार क्यों घटना हुई, क्यों लिंचिंग हुई, हम तो उसकी निंदा करते हैं।

 हमने अविलंब कार्रवाई की, उनको सबको पकड़ लिया, फिर भी टीम भेज रहे हैं यहां से। ऐसे मूर्ख लोग बन गए हैं इनके पदाधिकारी, जिनको इतना ही नहीं सेंस है कि किस प्रकार की घटना में क्या किया जाता है। एक आदमी उनके घर गया नहीं पहले, जो आदमी मारा गया उनके घर पर कोई नहीं गया, जाकर वहां पर बैठते ये लोग, मालूम पड़ता इनको, खाली यहां बैठे-बैठे अखबारबाजी करते रहते हैं, और तो और सोशल मीडिया पर कमेंटबाजी करते रहते हैं।

बीजेपी ने आज हनुमानगढ़ में तीन विधायकों को बीजेपी ने भेजा है जिस पर गहलोत ने कहा  यही तो मूर्खता है, जब जान गयी थी किसी व्यक्ति की, उसी दिन भेज देते, हकीकत मालूम पड़ जाती, तो ये डेलिगेशन भेजने की जरूरत ही नहीं पड़ती, यही तो मूर्खता है उनकी।

Share this story