अब सबके मोबाइल में होगी सूचना विभाग की डायरी : सीएम योगी आदित्यनाथ

 मकर संक्रांति के दिन सीएम योगी आदित्यनाथ ने किया सूचना विभाग की डिजिटल डायरी और एप का किया लोकार्पण 


जमाना तकनीकी का, हम भी जमाने के हिसाब से बदल रहे :योगी आदित्यनाथ 


 तकनीकी के प्रयोग से कोरोना काल में जनता तक सुलभ हुईं सुविधाएं 


देश में पहली बार बनी सूचना विभाग की डिजिटल डायरी : नवनीत सहगल 


खिचड़ी मेले पर डाक विभाग के विशेष आवरण का भी मुख्यमंत्री ने किया अनावरण

Newspoint24.com/newsdesk/

गोरखपुर ।  मकर संक्रांति के पावन पर्व पर शिवावतारी गुरु गोरक्षनाथ की तपोस्थली गोरखनाथ मन्दिर से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनता को एक और सौगात दी। मुख्यमंत्री ने सूचना विभाग की डिजिटल डायरी और एप का लोकार्पण किया जिसके जरिये राज्य के जनप्रतिनिधियों, विभागों और अधिकारियों तक जन-जन की पहुंच और आसान हो सकेगी। इस डायरी में इन सबका नाम,पता, पद और मोबाइल नंबर होगा। केंद्रीय मंत्रियों के बारे में भी जानकारी होगी। 

  इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने डाक विभाग द्वारा तैयार खिचड़ी मेले के विशेष आवरण का भी अनावरण किया। गोरखनाथ मन्दिर में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज जमाना तकनीकी का है। इसके प्रयोग से हम हर क्षेत्र में व्यापक सुधार ला सकते हैं।अच्छी बात यह है कि हम भी जमाने के साथ बदल रहे हैं। सूचना विभाग ने डिजिटल डायरी-एप के जरिये एक अभिनव पहल की है। अब मोबाइल ही डायरी होगी। लोग निशुल्क इस एप को अपने मोबाइल में डाउनलोड कर राज्य के हर विभाग से संपर्क स्थापित कर सकेंगे। 

  सीएम योगी ने कहा कि तकनीकी के माध्यम से ही हम कोरोना संक्रमण के दौर में आमजन को बेहतरीन सेवाएं देने में सफल हो सके। जनधन खातों में सहायता राशि, पेंशन, भरण पोषण भत्ता, छात्रवृत्ति आदि लोगों को घर बैठे मिल सकी। तकनीकी के जरिये ही 2.35 करोड़ किसानों के खातों में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि और 44 लाख प्रवासियों को भरण पोषण भत्ता दिया जा सका। इस सबके पीछे पर पीछे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मार्गदर्शन था। 

  अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने मुख्यमंत्री का स्वागत करने के साथ ही सूचना विभाग की डिजिटल डायरी-एप के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कोरोना काल में इसकी प्रेरणा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ही दी। देश मे सूचना विभाग की पहली बार इस तरह की डिजिटल डायरी बनी है। कोई भी व्यक्ति अपने मोबाइल में प्लेस्टोर से UPIDINFO एप को निशुल्क डाउनलोड कर सकता है। अभी तक मैनुअल होने के नाते सूचना विभाग की डायरी सभी को नहीं मिल पाती थी लेकिन एप के रूप में इसकी पहुंच सभी तक हो जाएगी। उसमे सभी जनप्रतिनिधियों, विभागों, अधिकारियों और मीडिया के लोगों के नाम, फोन नम्बर और ईमेल एड्रेस दर्ज हैं। सर्च ऑप्शन में जाकर किसी के बारे में पता किया जा सकता है। 

श्री सहगल ने कहा कि की मकर संक्रांति एक श्रेष्ठतम अवसर है और वह खुद को सौभाग्यशाली मानते हैं कि इस अवसर पर उन्हें शिवावतारी बाबा गोरखनाथ का दर्शन करने और सूचना विभाग की ओर से मुख्यमंत्री के हाथों डिजिटल डायरी के लोकार्पण कराने का सुअवसर प्राप्त हुआ। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार मृत्युंजय कुमार, नगर विधायक डॉ राधामोहन दास अग्रवाल आदि भी उपस्थित रहे। 

 महंत अवेद्यनाथ की स्मृति को समर्पित है खिचड़ी मेले पर डाक विभाग का विशेष आवरण

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डाक विभाग के विशेष आवरण का भी अनावरण किया। खिचड़ी मेले पर विशेष आवरण ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की स्मृति को समर्पित है। 

इसके पहले 2016 में डाक विभाग ने ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की पहली पुण्यतिथि पर डाक टिकट जारी किया था। उसी को इस बार विशेष आवरण के रूप में जारी किया गया है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि डाक विभाग का यह प्रयास हमारी विरासत और परम्परा को आगे बढ़ाने में मददगार होगा। भविष्य की पीढ़ी अपने पूर्वजों के बारे में अवगत हो सकेगी। आवरण के बारे में विस्तार से जानकारी पोस्ट मास्टर जनरल आकाशदीप चक्रवर्ती ने दी। 

Share this story