अफगानिस्तान में फंसी हिना की भारत वापसी में मां की 'ममता' बन रही रोड़ा

अफगानिस्तान में फंसी हिना की भारत वापसी में मां की 'ममता' बन रही रोड़ा

Newspoint24 / newsdesk

कानपुर । तालिबान के कब्जे के बाद अफगानिस्तान में रह रहे दुनिया भर के लोग अपने वतन वापसी की जद्दोजहद कर रहे हैं। इन्ही में से एक कानपुर की बेटी हिना भी है जो अफगानिस्तान में अपने को असुरक्षित महसूस कर रही है। उसने बीते दिनों अपनी मां से दर्द बयां किया तो मां ने कानपुर कमिश्नरेट पुलिस से गुहार लगाई।

कानपुर पुलिस की मेहनत रंग लाई और विदेश मंत्रालय ने हिना की वापसी का रास्ता साफ कर दिया। लेकिन बच्चों के पासपोर्ट न होने से मां की ममता उसके सामने रोड़ा बन गई है, हालांकि विदेश मंत्रालय ने उसके परिजनों से हिना के बच्चों के जन्म प्रमाण पत्र की जानकारी मांगी है, ताकि कोई रास्ता निकाला जा सके और बच्चों के साथ हिना की वापसी कराई जाये।

बाबपुरवा थानाक्षेत्र के बगाही स्थित चुन्नन की बिल्डिंग निवासी समीरुन निशा की बेटी हिना खान उर्फ पम्मो इन दिनों अफगानिस्तान में हैं। निशा ने 31 अगस्त को थाना में तहरीर देकर पुलिस से गुहार लगाई कि बेटी को कानपुर लाया जाये, वहां पर उसके पति ने उसे किसी के हाथों बेच दिया है। यही नहीं निशा ने बेटी के साथ हुई बातचीत का आडियो भी पुलिस को सौंपा। मामला बेचे जाने का होने के चलते कानपुर पुलिस हिना को कानपुर लाने के लिए तेजी लाई और आलाधिकारियों को जानकारी दी। मां-बेटी के बीच हुई बातचीत का आडियो सोशल मीडिया में वायरल हो गया तो पुलिस दबाव में आ गई और विदेश मंत्रालय से संपर्क कर मामले को अवगत कराया। कानपुर पुलिस लगातार विदेश मंत्रालय हिना की वापसी को लेकर पैरवी करती रही, आखिरकार हिना की वापसी का रास्ता साफ हो गया।

विदेश मंत्रालय ने फोन कर दी जानकारी

एडिशनल डीसीपी दक्षिण डॉ. अनिल कुमार ने गुरुवार को बताया कि विदेश मंत्रालय के अफगानिस्तान विशेष सेल से फोन कानपुर पुलिस को आया और बताया गया कि हिना का नाम अफगानिस्तान से भारत आने वाले लोगों की सूची में है। लेकिन एक अड़चन यह है कि उसके बच्चों का पासपोर्ट नहीं बना है, जिससे बच्चों की वापसी में कानूनी दिक्कतें हैं। इसको लेकर विदेश मंत्रालय ने कानपुर पुलिस से यह भी जानकारी मांगी कि हिना के परिजनों से उसके बच्चों की जानकारी जुटाई जाये, ताकि कोई रास्ता निकाला जा सके और हिना को बच्चों संग भारत वापसी कराया जाये।

मुम्बई में किया था निकाह

हिना की मां ने पुलिस को बताया कि हिना मुम्बई में चाचा के पास रहकर एक बार में काम करती थी और उसी दौरान उसकी मुलाकात अफगानिस्तान के काबुल से 80 किमी दूर जुरमुट निवासी मोहम्मद गनी से हुई। दोनों ने वहीं पर निकाह कर लिया और दोनों से एक बेटा और दो बेटियां हुईं। कुछ समय पहले गनी बेटी और अपने बच्चों को लेकर अफगानिस्तान चला गया। बताया कि अफगानिस्तान में हालत खराब होता देख गनी भारत आ गया और बेटी व उसके बच्चे वहीं रह गये। आरोप लगाया कि गनी ने प्रेमजाल में फंसाकर हिना के साथ निकाह किया और अब बेटी को अफगानिस्तान में किसी के हाथों बेच दिया है।

मां की ममता बन रही रोड़ा

हिना की मां निशा ने बताया कि कानपुर पुलिस ने जानकारी दी है कि हिना का नाम भारत वापसी आने वाले लोगों की सूची में हैं और बच्चों का नाम नहीं है। इस पर हिना से सम्पर्क किया गया तो वह असमंजस में हो गई। वह कह रही है कि बच्चों को छोड़कर कैसे वतन वापसी करुं। बताया कि मां की ममता भारत आने में फिलहाल रोड़ा बन रही है, लेकिन पूरा विश्वास है कि कानपुर पुलिस के सहयोग से बेटी बच्चों संग भारत वापसी करेगी।

हिन्दुस्थान समाचार

Share this story