सौर ऊर्जा से जगमगाएगा मोढेरा सूर्य मंदिर

newspoint24.com / newsdesk Modhera Sun Temple will be lit with solar energy, PM Modi will launch soon

Newspoint24.com / newsdesk 

मेहसाणा/अहमदाबाद । चालुक्य वंश के राजकुमार भीमदेव पहलाना द्वारा 11वीं शताब्दी में बनवाए गए मेहसाणा जिले के मोढेरा और बहुचराजी तालुका का सूर्य मंदिर अब सौर ऊर्जा की रोशनी से जगमगाएगा। इसके लिए केंद्र और गुजरात सरकार की पहल अंतिम चरण में है और जल्द ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इसका शुभारंभ कर सकते हैं।

मोढेरा सूर्य मंदिर और सौर ऊर्जा का अनूठा संगम मोढेरा से समन्वयित होने जा रहा है जिससे मोढेरा सूर्य मंदिर दिन-रात सौर ऊर्जा से जगमगाएगा और साथ ही मोढेरा पहला सौर गांव बनेगा। मोढेरा के ग्रामीणों सहित बहुचाराजी तहसीलवासी भी भारत की पहली सबसे बड़ी सौर ऊर्जा परियोजना के लिए सरकार को धन्यवाद दिया।

इस परियोजना की विशेषता यह है कि बैटरी ऊर्जा भंडारण प्रणाली (बीईएसएस) के साथ परियोजना में उत्पादित सौर ऊर्जा का उपयोग रात में भी किया जाएगा। दावा किया जा रहा है कि भारत में पहली बार इस तरह की तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है। 69 करोड़ रुपये की लागत वाली इस परियोजना का स्वामित्व सरकार की नोडल एजेंसी गुजरात पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड के माध्यम से महेंद्र समूह की कंपनी महेंद्र सस्टेन प्राइवेट लिमिटेड को मिला है, जिसने दक्षिण कोरिया से तकनीक का आयात किया है।

राज्य सरकार ने मोढेरा सूर्य मंदिर से तीन किलोमीटर दूर सुजानपुरा में 12 एकड़ जमीन आवंटित की है। इस जमीन पर सोलर फोटोवोल्टिक पैनल लगाने से तीन-तीन मेगावाट की दो यूनिट से कुल मेगावॉट बीईएसएस तकनीक का निर्माण होगा। मोढेरा गांव के कुल 1610 घरों में से 271 घरों पर एक किलोवाट का रूफटॉप सिस्टम लगाया जा रहा है। जिसे बिजली घर के मालिक भी ग्रेड में बांट सकेंगे। जिसके लिए स्मार्ट मीटर की भी जरूरत होगी। केंद्र की गैर-परंपरागत ऊर्जा पर प्रभाव से इस परियोजना के लिए 50 प्रतिशत पर 32.5 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं। जबकि सूर्य मंदिर भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के स्वामित्व में है, इसे भी मंजूरी दे दी गई है और पूरी व्यवस्था मंदिर परिसर में पार्किंग स्थल से संचालित होगी।

उल्लेखनीय है कि वर्तमान में मोढेरा के ग्रामीणों और मंदिर की बिजली की आवश्यकता दस हजार यूनिट प्रति घंटा है। लेकिन भविष्य की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए इस परियोजना से प्रति घंटे 150 लाख यूनिट बिजली का उत्पादन होगा। मुख्य सचिव अनिल मुकीम ने पिछले बुधवार को कैबिनेट की बैठक के साथ सचिवों की समिति की बैठक में राज्य के 30 से 35 बड़ी परियोजनाओं की समीक्षा की थी। मोढेरा सूर्य मंदिर के सोलर प्रोजेक्ट पर भी विस्तार से चर्चा हुई थी। मुकीम ने अधिकारियों को इन सभी बड़ी परियोजनाओं के कार्य में तेजी लाने के भी निर्देश दिए थे।

Share this story