मीरजापुर : गंगा स्नान करते दो महिलाएं डूबी, पांच को बचाया

Newspoint24 / newsdesk  Mirzapur: Two women drowned while bathing in the Ganges, rescued five

Newspoint24 / newsdesk


पांच की महिलाओं ने साड़ी फेंक कर बचाई जान, दो लापता
 
मीरजापुर । विन्ध्याचल थाना क्षेत्र के गोपालपुर मड़गुड़ा गांव में शादी में सम्मिलित होने आए रिश्तेदार गांव के ही मल्लाहिया गंगा घाट पर गुरुवार को स्नान करते समय सात लोग डूबने लगे। स्थानीय लोगों ने डूब रहे पांच लोगों को बचा लिया, लेकिन दो महिलाएं डूब गई। पुलिस गोताखोरों की सहायता से लापता महिलाओं की खोजबीन में लगी है।

मडगुडा गांव निवासी मन्ना बिंद के पुत्र की शादी बुधवार को थी। बारात जिगना थाना के बिहसडा गांव के लिए निकली। घर पर रात भर नाच गाना हुआ और सुबह लगभग आठ बजे 25 की संख्या में रिश्तेदार पास के मल्लाहिया गंगा घाट पर स्थान करने चले गए। मौके पर मौजूद महिलाओं और किशोरियों ने साड़ी फेंककर डूब रहे पांच लोगों को नदी से बाहर निकाल लिया। लेकिन अर्चना (23) पत्नी मनोहर निवासी मजिहार थाना देहात कोतवाली और अंतिमा (13) पुत्री राजधर निवासी अनिरुद्धपुर, पूरब पट्टी थाना चील्ह नदी में डूब गई।

शोरगुल सुन कर घाट पर इकट्ठा हुए ग्रामीणों ने घटना की सूचना विन्ध्याचल पुलिस को दी। थानाध्यक्ष विंध्याचल शेषधर पांडेय व अष्टभुजा चौकी इंचार्ज नवनीत चौरसिया मौके पर पहुंच कर गोताखोरों की सहायता से लापता की तलाश में लगे हैं।

अर्चना बीटीसी फाइनल की छात्रा तो पांच भाइयों में अकेली थी अंतिमा

अपनी बहन के देवर की शादी में सम्मिलित होने आयी अर्चना गुरुवार की सुबह गंगा में डूब गई। पड़री निवासी पिता राजेन्द्र बिंद ने बताया कि बिटिया पढ़ने में बहुत तेज थी। इस वर्ष बीटीसी का फाइनल था। पूरे परिवार को उम्मीद थी कि जल्द ही वह अध्यापक बनेगी। वही अंतिमा अपने पांच भाइयों में अकेली थी। अंतिमा को स्नान करते सभी ने देखा, लेकिन डूबते किसी ने नहीं देखा। उसका कपड़ा घाट के किनारे मिला।

Share this story