मीरजापुर : आयुष्मान कार्ड बनवाने में अब ग्राम प्रधान करेंगे मदद

आयुष्मान कार्ड

Newspoint 24 / newsdesk

मीरजापुर। स्वास्थ्य विभाग अब आयुष्मान कार्ड बनवाने में ग्राम प्रधानों से मदद लेगा। इसके लिए मुख्य चिकित्साधिकारी ने 804 ग्राम प्रधानों को पत्र भी जारी किया है। उम्मीद है कि इस पहल से पात्र लाभार्थयों को योजना का लाभ मिलने में और मदद मिलेगी।

मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. प्रभुदयाल गुप्ता ने बताया कि जिले के हर गरीब एवं असहाय परिवारों को स्वास्थ्य की सुविधा पहुंचाने के उद्देश्य से आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत सितम्बर 2018 में की गयी थी। योजना के तहत हर वर्ष पांच लाख रुपये तक के इलाज की निःशुल्क व्यवस्था उपलब्ध है। योजना में अब ग्राम प्रधानों से सहयोग लिया जा रहा है।

जिला कार्यक्रम परामर्शदाता आयुष पाण्डेय का कहना है कि जनपद में बहुत से लोग योजना के तहत चयनित किये गये हैं परन्तु अभी तक तमाम कारणों से उनका आयुष्मान गोल्डन कार्ड नहीं बन सका है। उनका कार्ड जिले के आठ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र व 35 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र समेत मंण्डली चिकित्सालय के साथ ही योजना से जुड़े 28 निजी चिकित्सालयों में बनाया जा रहा है।

जिला कार्यक्रम समन्वयक डॉ. राहुल ने बताया कि अब शासन स्तर से मिलेआदेश के बाद विभाग ग्राम प्रधानों के सहयोग से पंचायतों में रहने वाले चयनित लोगों का आयुष्मान गोल्डन कार्ड बनाएगा। कार्ड बनवाने के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर वंचित लोगों को भी पत्र जारी किया जा रहा है। गंम्भीर बीमारी होने पर किसी चिकित्सालय पर निःशुल्क जांच कराने पर किसी भी प्रकार की परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा। इसी को ध्यान में रखकर योजना में शामिल प्रत्येक सदस्य का कार्ड बनाने के लिए ग्राम प्रधानों का सहयोग लिया जा रहा है।

Share this story