पश्चिम चंपारण में पांच डिग्री तक गिरा पारा, शीत लहर से ठिठुरन बढ़ी

पश्चिम चंपारण में पांच डिग्री तक गिरा पारा, शीत लहर से ठिठुरन बढ़ी

Newspoint24/संवाददाता /एजेंसी इनपुट के साथ

बेतिया। पहाड़ों पर बर्फबारी और शीत लहर का असर मैदानी इलाकों पर दिखने लगा है। 11 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल रही शीत लहर से गलन बढ़ गई है। ऐसे में जन मानस ठंड से हारने लगा है। तापमान की बात करें तो दिन में अधिकतम 15 तो रात में 5 डिग्री सेल्सियस तक पारा पहुंच रहा है।

कड़ाके की पड़ रही ठंड से लोग सुबह और रात को अपने घरों से निकलने से बच रहे हैं। शहर में मॉर्निंग वॉक करने वालों की संख्या कम हो गई है। ठंड के साथ बढ़ रही गलन और रात में गिर रहे पारे के साथ चल रही 11 किलोमीटर की शीत लहर से जनजीवन अस्त-व्यस्त होने लगा है।

अधिकतम तापमान 10-15 दिनों में गिरेगा तो न्यूनतम तापमान में अभी से गिरावट हो रही है। रविवार की रात को न्यूनतम पारा चार डिग्री सेल्सियस पर रहा।शनिवार-रविवार की रात में पारा पांच डिग्री सेल्सियस तक रहा। रविवार को दिन में अधिकतम पारा 21 डिग्री सेल्सियस तक रहा। ऐसे में सुबह और देर शाम ठंड की वजह से लोग ठिठुरते दिखे।

इधर-उधर अलाव जलाकर लोगों ने हाथ सेंके। बच्चे और बुजुर्ग गर्म कपड़ों में पैक हो गए। बिना दस्ताने वाहन चला रहे राहगीरों के हाथ सुन्न पड़ने लगे।ऐसे में जहां भी अलाव दिखता, लोग अपने वाहन को रोककर हाथ सेंकने लग जाते हैं। कई लोग तो ऐसे भी थे, जिन्होंने मार्निंग वॉक से परहेज कर लिया। हालांकि, दिन में धूप भी नही निकलने से कुछ राहत नही मिल पा रहा है, लेकिन दिन रात ठिठुरन बढ़ने से परेशानी हो जाती है।

Share this story