मथुरा : राजकीय मुड़िया पूर्णिमा मेला निरस्त, पांच दिन गोवर्धन प्रवेश मार्ग रहेंगे सील

 मथुरा : राजकीय मुड़िया पूर्णिमा मेला निरस्त, पांच दिन गोवर्धन प्रवेश मार्ग रहेंगे सील

Newspoint 24 / newsdesk 
 

डीएम की श्रद्धालुओं से अपील मेला निरस्त हो चुका है, श्रद्धालु गोवर्धन न आएं

मथुरा । गोवर्धन का राजकीय मुड़िया पूर्णिमा मेला कोरोना महामारी के चलते इस बार नहीं मनेगा। जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल ने गुरूवार आषाढ़ माह की एकादशी से पूर्णिमा तक मनाए जाने वाले इस मेला को निरस्त कर दिया है।

जिलाधिकारी ने बताया कि देशभर से गोवर्धन आने वाले लाखों श्रद्धालु इस बार यहां न पहुंचे क्योंकि गोवर्धन के सभी प्रवेश मार्गों को पांच दिनों के लिए सील करने के निर्देश जारी कर दिए गए है। गोवर्धन के मुड़िया पूर्णिमा मेला को लेकर गुरूवार दोपहर जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल द्वारा जारी किए गए आदेश के अनुसार कोरोना महामारी से बचाव के लिए 20 से 24 जुलाई तक लगने वाले मेला को महामारी अधिनियम 1897 के प्रावधान के अनुसार निरस्त करने को फैसला लिया है।

डीएम के आदेश के बाद गोवर्धन के सभी प्रवेश मार्गों पर बैरियर लगाकर गैर जनपदों के वाहनों को तैनात पुलिस द्वारा रोका जाएगा। श्रद्धालुओं के गोवर्धन में प्रवेश पर पूरी तरह रोक लगा दी गई है। जबकि मथुरा जिले के सभी मार्गों पर आवागमन सामान्य रहेगा। इस संबंध में डीएम ने लोगों से अपील भी की है कि इस बार कोरोना महामारी के कारण राजकीय मुड़िया पूर्णिमा मेला निरस्त कर दिया गया है। श्रद्धालु गोवर्धन न आएं।

इससे पहले जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल ने मुड़िया पूर्णिमा मेला को लेकर एक संयुक्त समिति बनाकर उनसे मेला संबंधी रिपोर्ट मांगी थी। इस समिति में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र गोवर्धन के चिकित्सा अधीक्षक, एसडीएम गोवर्धन, एडीएम प्रशासन शामिल थे। समिति ने मुख्य संतों एवं धर्माचार्योंं से बात की। सभी ने कोरोना को देखते हुए मेला को निरस्त करने की मांग की थी। इस पर डीएम नवनीत सिंह चहल ने मेला को निरस्त कर दिया। पुलिस प्रशासन बाहरी वाहनों को और श्रद्धालुओं के गोवर्धन के प्रवेश पर रोक लगाने की तैयारी में जुट गया है। गोवर्धन के सभी प्रवेश मार्गों पर बैरियर लगाए जा रहे हैं साथ ही पुलिस बल तैनात किया जाएगा।

Share this story