ममता के अल्पसंख्यक मंत्री ने सड़क जाम कर रोकी कोरोना वैक्सीन की सप्लाई 

विरोध करने पर लोगों को डंडे से पीटा 

Newspoint24.com/newsdesk/


कोलकाता । कोरोनावायरस से बचाव के लिए टीके का इंतजार पूरा देश कर रहा था। मंगलवार को ही केंद्र सरकार ने पश्चिम बंगाल में आवश्यक टीके की खुराक विशेष विमान से भेज दी थी। इसके बाद राज्य स्वास्थ्य विभाग विशेष वातानुकूलित वाहनों के जरिए इसे राज्य के अन्य हिस्सों में पहुंचा रहा है लेकिन बुधवार को पूर्व बर्दवान जिले में ममता बनर्जी के खास मंत्री और विवादित अल्पसंख्यक चेहरा सिद्दीकुल्ला चौधरी ने सड़क जाम कर वैक्सीन की सप्लाई ही रोक दी। यहां तक कि जब इससे परेशान लोगों ने विरोध किया तो वह हाथ में डंडे लेकर स्थानीय लोगों को ही पीटने लगे। इसका वीडियो वायरल हुआ है जिसकी वजह से उनकी चौतरफा आलोचना हो रही है।


दरअसल कृषि कानूनों के खिलाफ पूर्व बर्दवान के गलसी में राष्ट्रीय राजमार्ग (एनएच) को जाम कर अल्पसंख्यक मंत्री सिद्दीकुल्ला अपने समर्थकों के साथ विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। वह अल्पसंख्यकों के राष्ट्रीय संगठन "जमात ए उलेमा ए हिंद" के राज्य अध्यक्ष भी हैं। उनके साथ बड़ी संख्या में अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों ने सड़कें जाम की हुईं थीं। इससे स्थानीय लोगों को काफी परेशानी हो रही थी। पुलिस ने बताया है कि सड़क जाम की वजह से कोरोना वैक्सीन को ले जा रहे वातानुकूलित वाहन को भी दूसरे रास्ते से ले जाना पड़ा।

सड़क जाम के कारण परेशान लोगों ने जब इसका विरोध किया तो अल्पसंख्यक मंत्री चौधरी ने हाथ में डंडे लेकर लोगों को भगाना और मारना शुरू कर दिया। इसको भाजपा उनकी गिरफ्तारी की मांग कर रही है जबकि इस मामले में सत्तारूढ़ पार्टी ने चुप्पी साध रखी है। 
उल्लेखनीय है कि मंत्री सिद्दीकुल्ला चौधरी वही नेता हैं जिन्होंने एनआरसी को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को एयरपोर्ट से बाहर नहीं निकलने देने की चेतावनी दी थी। उन्होंने एक लाख मुस्लिम समुदाय के लोगों के साथ हवाई अड्डे को घेरने की धमकी भी दी थी। 

Share this story