महाराष्ट्र : परभणि जिले में 900 मुर्गी की मृत्यु, बर्डफ्लू की आशंका


मध्य प्रदेश और गुजरात से मुर्गी लाने पर पाबंदी
मुंबई । महाराष्ट्र के परभणि जिले के मुरुंबा गांव में शुक्रवार को 900 से अधिक मुर्गियां मृत पाई गई हैं।जिला स्वास्थ्य विभाग ने इन मृत मुर्गियों के नमूने लेकर प्रयोगशाला में भेज दिया है। गांव में बर्ड फ्लू फैलने की आंशक जताई गई है। इसलिए यहां से 5 किलोमीटर की परिधि में मुर्गी विक्री पर रोक लगा दी गई है। इस खबर के बाद राज्य सरकार ने मध्यप्रदेश व गुजरात से महाराष्ट्र में मुर्गी लाने पर रोक लगा दिया है। 

जानकारी के अनुसार मुरुंबा गांव के विजय झाड़े, रामचंद्र प्रजापति, प्रभाकर झाड़े आदि के मुर्गीपालन फार्म में आज 900 से अधिक मुर्गियां मृत पाई गई। इस घटना की जानकारी तत्काल जिला प्रशासन को दी गई। इसके बाद पशु संवर्धन विभाग की टीम और स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव में पहुंची और नमूने लेकर पुणे स्थित प्रयोग शाला में भेज दिया गया है। अभी तक रिपोर्ट नहीं आई है,लेकिन गांव में बर्ड फ्लू को लेकर लोगों में आशंका बढ़ गई है। इसी आशंका को देखते हुए जिला प्रशासन ने जिले में गांव के आस पास 5 किलोमीटर तक मुर्गी विक्री पर रोक लगा दिया है। 

पशु संवर्धन मंत्री सुनील केदार ने बताया कि इस घटना की जानकारी मिलते ही गुजरात व मध्यप्रदेश से महाराष्ट्र में आने वाली मुर्गियों पर रोक लगा दी गई है। केदार ने बताया कि राज्य के हर जिले में पक्षियों व जानवरों तक का नियमित सर्वेक्षण किया जा रहा है और नमूने लेकर प्रयोगशाला में भेजे जा रहे हैं। अब तक बर्ड फ्लू संक्रमित एक भी नमूना नहीं पाया गया है। मध्यप्रदेश व गुजरात में बर्ड फ्लू के संसर्ग को देखते हुए इन राज्यों से आने वाले मुर्गियों पर रोक लगाई गई है।

सुनील केदार ने बताया कि अगर कहीं भी पक्षियों में संसर्ग की जानकारी मिले तो इसकी जानकारी स्थानीय नागरिक तत्काल जिला पशु संवर्धन विभाग व जिला स्वास्थ्य विभाग को दें। सुनील केदार ने कहा कि अभी तक महाराष्ट्र में बर्ड फ्लू के संक्रमित नहीं मिले हैं, इसलिए लोग पैनिक न हों।    

Share this story