मां नंदा की उत्सव डोली नंदाधाम कुरूड़ रवाना 

newspoint24.com/newsdesk

गोपेश्वर ।  देवराड़ा थराली से मां नंदा राजराजेश्वर की उत्सव डोली रविवार को पौष पूर्णिमा पर सिद्धपीठ नंदाधाम कुरूड़ (घाट) के लिए रवाना हो गई। नंदा सिद्धपीठ देवराड़ा थराली में उत्सव डोली ने छह माह तक प्रवास किया। 
मां नंदा की उत्सव डोली 13 जनवरी को घाट विकासखंड के सेंती गांव में लक्ष्मीनारायण मंदिर में पूजा के बाद शिव मंदिर घाट होते हुए कुरूड़ गांव पहुंचेगी। वहां पर विधि-विधान के साथ नंदा की डोली सिद्धपीठ में विराजमान हो जाएगी। यहां मां की डोली छह माह प्रवास करेगी। इसी के साथ नंदा देवी लोक राजजात यात्रा 2021 -शुरू होगी।
देवराड़ा थराली में डोली के विदाई के मौके पर भक्तों की आंखें नम हो गईं। कई महिलाओं एवं पुरुषों पर नंदा भगवती के साथ ही अन्य देवी-देवता भी अवतारित हुए। नंदा लोक राजजात यात्रा 2020 की वेदनी में 25 अगस्त को  लोकजात संपन्न होने के बाद 1 सितम्बर को डोली नंदा सिद्धपीठ देवराड़ा मंदिर के गर्भगृह में विराजमान हुई थी। 
इस मौके पर  कुरूड़ मंदिर समिति के अध्यक्ष मंशाराम गौड़, बची राम गौड़, धनी राम गौड़ ,योगंबर गौड़, अनसूया प्रसाद गौड़, देवराड़ा मंदिर समिति के अध्यक्ष भूवन हटवाल, लोल्टी तुंगेश्वर के मंदिर समिति के अध्यक्ष धनराज सिंह रावत, थराली के अध्यक्ष संदीप रावत आदि मौजूद रहे। 

Share this story