कानपुर : ट्रैफिक विभाग में तैनात दरोगा के शारीरिक शोषण से त्रस्त महिला गंगा में कूदी

कानपुर : ट्रैफिक विभाग में तैनात दरोगा के शारीरिक शोषण से त्रस्त महिला गंगा में कूदी

Newspoint24 / newsdesk

कानपुर । जनपद मिर्जापुर की रहने वाली एक महिला ने यातायात विभाग में तैनात अपने रिश्तेदार टीएसआई पर नशीला पदार्थ पिलाकर दुष्कर्म करने और अश्लील वीडियो बनाने का आरोप लगाया है। उत्पीड़न से त्रस्त महिला ने 112 नम्बर पर कॉल किया और गंगा में छलांग लगा दी। मौके पर पहुंची पीआरवी ने महिला को बचा लिया। महिला की तहरीर पर पुलिस ने टीएसआई और उसके पुत्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।

मामले में कानपुर कमिश्नरेट पुलिस की ओर से बताया गया कि गोताखोरों की मदद से बचाई गई महिला ने टीएसआई पर शारीरिक शोषण किए जाने का आरोप लगाया है। यही नहीं पीड़ित महिला ने बताया कि टीएसआई गिरजा शंकर तिवारी ने कुंभ मेले में ड्यूटी के दौरान उसका शारीरिक शोषण किया। आरोपित रिश्तेदार टीएसआई ने उसका अश्लील वीडियो भी बना लिया। जिसे वायरल करने की धमकी देकर आरोपित ने उसके साथ कई बार दुष्कर्म किया। जिस कारण से वह बीच में गर्भवती भी हो गई। आरोपित ने उन्हें गर्भ निरोधक दवाएं खिलाकर गर्भपात करा दिया।

इसके बाद 10 सितम्बर को आरोपित फूफा ने उसे किसी काम से कानपुर बुलाया। फिर आरोपित उसे चकेरी मोड़ स्थित कमरे में ले गया। जहां आरोपित ने अपने बेटे के साथ मिलकर मारपीट की। आरोपित की हरकतों से तंग आकर रविवार देर शाम को पीड़िता ने जाजमऊ गंगापुल पहुंचकर गंगा में छलांग लगाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया।

इस प्रकरण में थाना चकेरी में महिला की तहरीर पर टीएसआई गिरजा शंकर तिवारी और उसके पुत्र अमित तिवारी के खिलाफ पुलिस आयुक्त के आदेश पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पुलिस ने महिला को मेडीकल जांच के लिये भेजा है। प्रकरण में पुलिस टीएसआई पर महिला द्वारा लगाए गए आरोपों की गहनता से जांच शुरू कर दी गई है।

हिन्दुस्थान समाचार

Share this story