झारखंड : झारखंड राज्य हमेशा से प्रकृति पूजक रहा है:डॉ0 रामेश्वर उरांव

newspoint24

रांची। झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सह राज्य के वित्त तथा खाद्य आपूर्ति डॉ0 रामेश्वर उरांव ने विश्व पर्यावरण दिवस पर कहा है कि आदिवासी बहुल झारखंड राज्य हमेशा से प्रकृति पूजक रहा है और यही कारण है कि जब देश-दुनिया में हाल के कुछ वर्षां में वन क्षेत्र में कमी आयी है,वहीं इस राज्य में वन क्षेत्र में वृद्धि हुई है।
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने शनिवार को यहां कहा कि मनुष्य का प्रकृति के साथ अटूट संबंध रहा है और पर्यावरण की रक्षा हमारा सामूहिक दायित्व है। उन्होंने लोगों से प्रकृति के संरक्षण में योगदान की अपील की।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने कहा कि भारत में प्रकृति पूजा और प्रकृति के साथ जीने की लम्बी परम्परा रही है। प्रतिशत जैव विविधता से परिपूर्ण झारखंड जलवायु परिवर्तन नियंत्रण अभियान में पूरे देश को एक नयी दिशा प्रदान करने में सक्षम है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता लाल किशोर नाथ शाहदेव ने कहा कि प्रकृति के साथ सामंजस्य पूर्ण तरीके से रहना और जैव विविधता की रक्षा करना सभी नागरिकों का कर्त्तव्य है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता डॉ0 राजेश गुप्ता छोटू ने सभी राज्यवासियों से पर्यावरण संरक्षण में योगदान करने की अपील की, ताकि आने वाली पीढियों को रहने योग्य धरती सौंपी जा सके।

Share this story